<no title>आखिर में योगी सरकार में हो रहे भ्रष्टाचार को भाजपा की मेयर ने स्वीकारा


लखनऊ। प्रदेश की योगी सरकार बड़ी जोर-जोर से दावे कर रही है,कि भ्रष्टाचार खत्म हो गया है और भ्रष्टाचारियों में उनका भय समा गया है। लेकिन सोमवार को इनके दावों की पोल राजधानी से भाजपा की मेयर संयुक्ता भाटिया ने खुद खोल दी। राजधानी के विकास कार्यों में घटिया निर्माण के पीछे मोटी कमीशनबाजी की वजह का मामला सामने आने के बाद महापौर संयुक्ता भाटिया ने नगर निगम अफसरों को तलब कर कड़ी नाराजगी जताई। महापौर ने कहा कि यह खेल बंद होना चाहिए। इंजीनियर मौके पर जाकर खुद निरीक्षण नहीं करता है। क्या जिम्मेदारी सिर्फ ठेकेदार की है ? अगर ऐसा है तो इंजीनियरों पर कार्रवाई क्यों नही की जा रही है ? इतना ही नही भ्रष्टाचार की शिकायत मिलने पर उन्होंने नगर विकास मंत्री और मुख्यमंत्री को रिपोर्ट भेजने और एफआईआर दर्ज कराने की चेतावनी भी दी है। इससे साबित हो जा रहा है,कि योगी सरकार में भ्रष्टाचार हो रहा है।


बता दें, राजधानी के एक प्रमुख अखबार ने राजधानी में हो रहे विकास कार्यों के निर्माणों में मानक को ताख में रख नगर निगम के इंजीनियरिंग ठेकेदारों से मिलकर घटिया निर्माण करा रहे हैं। निर्माण कार्य में कमीशनखोरी को लेकर शहर की मेयर संयुक्ता भाटिया ने सोमवार को नगर निगम मुख्यालय पहुंच कर अफसरों को तलब किया और उनको खूब खरीखोटी सुनाई। मेयर ने कहा,यदि ठेकेदार खराब काम करता है तो उसे उसी समय ठीक कराया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सड़कों की जांच के लिए मुख्य अभियंता की अगुवाई में संबंधित जोन के अधिशासी अभियंता, सहायक अभियंता और अवर अभियंता की एक समिति बनाई जाए। जो काम शुरू होने से पहले ही मौके की जांच करे। अवर अभियंता निर्माण सामग्री की लगातार जांच करें। यदि कोई कमी हो तो उसे सही कराएं। अफसरों को नशीहत देते हुए कहा, कि नगर विकास मंत्री और मुख्यमंत्री को रिपोर्ट भेजने और एफआईआर दर्ज कराने की चेतावनी भी दी है।


 


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
ईद उल अजहा की पुरखुलूस मुबारकबाद -अजय गुप्ता महासचिव केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन
चित्र