काल भैरव मंदिर पहुंचे पीएम मोदी, सिद्धि योग में करेंगे नामांकन

पीएम नरेंद्र मोदी आज 11 से 12 बजे के बीच सर्वार्थ सिद्धि योग में नामांकन पत्र दाखिल करेंगे। प्रधानमंत्री सुबह 10.32 बजे काशी कोतवाल बाबा कालभैरव का दर्शन-पूजन करने के लिए डी पैरिस होटल से निकले। पीएम मोदी के काल भैरव पहुंच गए। इससे पहले 9.40 बजे होटल डी पैरिस में पीएम ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि डगर-डगर में अनुभव करता था कि काशी के कार्यकर्ताओं ने इतनी गर्मी में घर-घर जाकर सबसे आशीर्वाद मांगे। मोदी ने कहा कि मैं भी एक बूथ कार्यकर्ता था। मुझे भी दीवारों पर पोस्टर लगाने का सौभाग्य मिला है। देश भर के कार्यकर्ताओं की मेहनत है कि आज कश्मीर से कन्याकुमारी तक काशी घाट से पोरबंदर तक उत्साह का माहौल है। देश में लोग खुद कह रहे हैं 'फिर एक बार मोदी सरकार'।

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में इतने चुनाव हुए, लेकिन ये चुनाव होने के बाद पॉलिटिकल पंडितों को माथापच्ची करनी पड़ेगी। क्योंकि आजादी के बाद पहली बार प्रो इंकम्बैंसी लहर दिखाई दे रही है। हम सब कार्यकर्ता निमित्म मात्र हैं और जनता चुनाव लड़ रही है। जनता 5 साल के अनुभव के आधार पर अनेक आशा, आकांक्षा लेकर हमसे जुड़ गई है। जनता ने पूरे देश के राजनीतिक चरित्र को बदल दिया है।

पीएम मोदी ने कहा कि जनता ने सरकार चुनने का मन बना लिया है। इतिहास का ये पहला मौका है कि इस तरह का चुनाव हो रहा है। जनता हमें जैसा प्यार दे रही है उसका हर पल आभार जताना होगा। कार्यकर्ता का परिश्रम और लोगों का प्रेम, ऐसा कल का अद्भुत अनुभव था। सरकार बनाना जनता का काम है और सरकार चलाना हमारी जिम्मेदारी है और ये जिम्मेदारी मैंने पूरी ईमानदारी से निभाई है। आपको मैं कार्यकर्ता के तौर पर हिसाब देता हूं। कार्यकर्ता के नाते पार्टी ने 5 साल में मुझसे जितना समय मांगा, जहां मांगा मैंने एक बार भी मना नहीं किया।

पीएम ने कहा कि मेरे भीतर के कार्यकर्ता को मैंने कभी मरने नहीं दिया। प्रधानमंत्री के रूप में मैं जो जिम्मेदारी निभा रहा हूं उसमें भी और एक सांसद के रूप में भी अपनी जिम्मेदारी के प्रति उतना ही सजग हूं। पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि इस चुनाव के दो पहलू हैं, पहला काशी लोक सभा जीतना। मेरे हिसाब से ये काम कल पूरा हो गया है। दूसरा काम अभी बाकी है वो है पोलिंग बूथ जीतना और एक भी पोलिंग बूथ भाजपा का झंडा झुकने नहीं देना है।

वोट का महत्व बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि एक-एक वोट बहुत महत्वपूर्ण होता है। भाजपा के कार्यकर्ता होने के नाते बनारस वालों की कठिनाई बहुत है। क्योंकि और जगह तो सबका उम्मीदवार साथ चलकर प्रचार करता है लेकिन आप इतने काम नसीब हैं कि आपका उम्मीदवार तो पर्चा भरकर ही यहां से चला जायेगा।

जोश भरते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इस चुनाव में हमें कुछ रिकॉर्ड भी तोड़ने हैं और लोकतंत्र को जीताना है। रिकॉर्ड ये तोड़ना है कि अब तक बनारस में, उत्तर प्रदेश में जितना पोलिंग हुआ है, उससे कहीं ज्यादा वोटिंग हो। दुनिया को दिखा देना है कि मतदान के सारे रिकॉर्ड हम तोड़ देंगे। बनारस का तुनाव ऐसा होना चाहिए कि देश के राजनीतिक पंडितों को उस पर किताब लिखने का मन हो जाए। 

पीएम मोदी ने बताया कि कल सोशल मीडिया पर लोगों ने मुझे बहुत डांटा कि रोड शो बंद कर दीजिए, अपनी सुरक्षा का ध्यान रखिए। लेकिन मोदी का कोई ध्यान रखता है तो इस देश की करोड़ों माताएं। वे शक्ति बनकर मेरी सुरक्षाकवच बनती हैं। मेरी एक इच्छा है जो मैं गुजरात में भी पूरा नहीं कर पाया। शायद बनारस वाले मेरी वो इच्छा पूरी सकें, मैं चाहता हूं कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं का मतदान 5% ज्यादा होना चाहिए। हमें तय करना चाहिए कि अगर हमारे पोलिंग बूथ में 100 वोट पड़ते हैं तो 105 माताओं-बहनों के पड़ें। दूसरा जो इस बार पहली बार वोट दे रहा है, उनकी लिस्ट बनाइए, उन सबको बुलाइए।

पीएम मोदी ने कहा कि उम्मीदवार चाहे किसी भी पार्टी का हो वो मेरा दुश्मन नहीं है। हम सब समान है। दूसरा उम्मीदवार भी देश के लोकतंत्र को मजबूत करने आया है। इसलिए इस बात पर चर्चा ना करें। ये चुनाव आम चुनाव नहीं है। ये चुनाव 21वीं सदी के बदलाव का चुनाव है। मुझे हर पोलिंग बूथ जीतना है। जैसे श्रीकृष्ण ने गोवर्धन उठाया था, सभी की मदद से हमें 21वीं सदी में भारत मां को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है।


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
संसद का शीतकालीन सत्र नहीं होगा, सरकार ने जनवरी में बजट सत्र बुलाने का सुझाव दिया
चित्र
मोदी खुद शहंशाह, मेरे भाई को शहजादा बोलते हैं: गुजरात में प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री पर किया पलटवार
चित्र