लोकसभा 2019 : पहले चरण का मतदान संपन्न, मणिपुर में सर्वाधिक 78.20 वोटिंग

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के प्रथम चरण में 20 राज्यों की 91 लोकसभा सीटों के मतदान खत्म हो चुका है। देश के नक्सल प्रभावित इलाकों में सुबह 7 से शाम 4 बजे तक ही वोटिंग की इजाजत है। अब सिर्फ उन लोगों को वोट डालने दिया जाएगा जो पहले से कतार में लगे हुए हैं। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावति बस्तर में पोलिंग पार्टी शांतिपूर्ण मतदान कराकर वापस लौट रही हैं। छत्तीसगढ़ में हाल में वोटिंग से ठीक पहले नक्सल हमला हुआ था और यहां के कई इलाके संवेदनशील की श्रेणी में आते हैं।


कहां-कितना मतदान प्रतिशत
अंडमान-निकोबार द्वीप समूह (1 सीट) - 70.67 प्रतिशत
आंध्रप्रदेश (25 सीट) -66 प्रतिशत
छत्तीसगढ़ (बस्तर सीट) - 56 प्रतिशत
तेलंगाना (17 सीट) -60 प्रतिशत
उत्तराखंड (5 सीट) - 57.85 प्रतिशत
जम्मू-कश्मीर (2 सीट) - 54.59 प्रतिशत


यूपी में 5 बजे तक 60 प्रतिशत, तेलंगाना में 60.5 प्रतिशत मतदान
-शाम 5 बजे तक बिहार में 50. 36 फीसदी मतदान, तेलंगाना 60.57 प्रतिशत, यूपी में 60 प्रतिशत, मेघालय में 62 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है।


बिहार में 38.50 प्रतिशत, मणिपुर में 68.90 प्रतिशत वोटिंग
5 बजे तक लक्षद्वीप में 65.9 प्रतिशत, उत्तराखंड में 56.59 प्रतिशत, मणिपुर में 78.20 प्रतिशत, नागपुर में 58.25 प्रतिशत, असम में 68 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।



त्रिपुरा में पश्चिम त्रिपुरा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए पहले सात घंटे में करीब 60 फीसदी वोट पड़े। चुनाव और पुलिस अधिकारियों ने यह जानकारी दी। एक अधिकारी ने कहा, सेपाहिजाला जिले के चारिलाम में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प को छोड़कर कोई बड़ी घटना नहीं हुई।


पुलिस प्रवक्ता सुब्रता चक्रवर्ती ने कहा कि इस घटना में दस लोग घायल हो गए। चक्रवर्ती ने आईएएनएस को बताया, "कुछ स्थानों पर, लोगों ने मतदाताओं को मतदान से रोकने की कोशिश की, लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें नाकाम कर दिया।"


लक्षद्वीप में 3 बजे तक 52 प्रतिशत मतदान
वहीं लक्षद्वीप में लोकसभा चुनाव के लिए गुरुवार को 3 बजे तक करीब 52 फीसदी मतदान हुआ। चुनाव आयोग से यह जानकारी मिली है। लोकसभा चुनाव के पहले चरण के तहत 20 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की 91 लोकसभा सीटों पर मतदान जारी है।


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
एलआईसी विश्वास और पारिवारिक सुरक्षा ,उज्जवल भविष्य और सम्मान का प्रतीक है प्रशांत वशिष्ठ,
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
कोरोना वायरस: भारत में 1.56 लाख से अधिक की मौत, विश्व में मृतक संख्या 25 लाख के पार
चित्र