महाराष्ट्र में पीएम मोदी का 'बड़ा हमला'- कांग्रेस नेताओं ने हिंदुओं को आतंकवादी कहा

महाराष्ट्र के वर्धा में चुनावी रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस के आरोपों का कड़ा जवाब दिया है। 'शौचालय के चौकीदार' वाली कांग्रेस की टिप्पणी पर उन्होंने कहा कि आपकी गालियां मेरे लिए गहने के समान हैं। क्योंकि जब मैं शौचालयों का चौकीदार बनता हूं, तो देश की करोड़ों माताओं-बहनों की इज्जत का भी चौकीदार बनता हूं। आपके लिए ये शौचालय होगा, मेरे लिए तो ये मेरी माताओं-बहनों का इज्जत घर है।


पीएम मोदी ने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी का गठबंधन, कुंभकरण की तरह है। जब वे सत्ता में होते हैं तो 6-6 महीने के लिए सोते हैं। छह महीने में कोई एक उठता है और जनता का पैसा खाकर फिर सोने चला जाता है।उन्होंने एमीसैट उपग्रह के सफल प्रक्षेपण पर इसरो के वैज्ञानिकों की प्रशंसा की। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के एमीसैट उपग्रह का सफल प्रक्षेपण ऐतिहासिक कदम है। 
 

'हिंदुओं पर आतंकवाद का दाग लगाने का प्रयास'

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस देश के करोड़ों लोगों पर हिंदू आतंकवाद का दाग लगाने का प्रयास कांग्रेस ने ही किया है। सुशील कुमार शिंदे जब भारत सरकार में मंत्री थे, तो उन्होंने इसी महाराष्ट्र की धरती से हिंदू आतंकवाद की चर्चा की थी। हजारों साल का इतिहास है कि हिंदू ने कभी आतंकवाद की एक भी घटना की है क्या? अंग्रेज इतिहासकारों ने भी इस बात का जिक्र किया है कि हिंदू कभी हिंसक नहीं हो सकता। 

कहा कि जिन्होंने 70 साल तक गरीब को गरीब बनाए रखा, वो कभी गरीब का भला नहीं कर सकते है। ये वो लोग हैं जो गरीब के नाम पर पैसा लाकर, उस पैसे से अपनी तिजोरी भरते हैं। 'एनसीपी में अंदरुनी कलह, इसलिए साइड हुए शरद पवार'

प्रधानमंत्री ने महाराष्ट्र में कांग्रेस के साथ मिल कर चुनाव लड़ रही एनसीपी पर भी टिप्पणी की। कहा कि राकांपा(राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी) में अंदरूनी कलह चल रही है। शरद पवार के हाथों से पार्टी की कमान फिसल रही है। उन्होंने दावा किया कि शरद पवार ने प्रतिकूल परिस्थितियों को देखते हुए चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है।

कांग्रेस एनसीपी गठबंधन पर हमलावर होते हुए कहा कि साथियों आप ये भी मत भूलिए कि ये वही कांग्रेस और एनसीपी का गठबंधन है, जिसने आजाद मैदान में उन्मादी भीड़ को शहीदों के स्मारक को जूते से रौंदने की खुली छूट दी थी। रैली में पीएम मोदी ने लोगों से पूछा कि जो हिन्दुस्तान के हीरो हैं, उनकी जरुरत है या जो पाकिस्तान के हीरो बन गए हैं, उनकी? आपको सबूत चाहिए या देश के सपूतों पर गर्व? 

शरद पवार और अजीत पवार पर बोला हमला

प्रधानमंत्री ने कहा कि शरद पवार खुद एक किसान होने के बावजूद किसानों को भूल गए, उनकी चिंताओं को भूल गए हैं। उनके कार्यकाल में कितने ही किसानों को खुदकुशी के लिए मजबूर होना पड़ा, लेकिन पवार साहब ने कोई परवाह नहीं की। मत भूलिए, जब महाराष्ट्र का किसान अजीत पवार से बांधों में पानी के बारे में सवाल करने गया था, तो उन्हें क्या जवाब मिला था। ऐसा जवाब मिला था, जो मैं बोल भी नहीं सकता। मत भूलिए, जब मावल के किसान अपने अधिकार के लिए लड़ रहें थे, तो पवार परिवार ने उन पर गोली चलाने का आदेश दे दिया था।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
स्वास्थ्य के प्रति हमेशा सजग रहे डॉक्टर नीतिका शुक्ला
चित्र
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के साथ विकसित होने वाले औद्योगिक क्लस्टर के माध्यम से बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे
चित्र
पीएम मोदी का रोड शो, 400 पार के नारे से गूंजा गाजियाबाद
चित्र
कोरोना वायरस: भारत में 1.56 लाख से अधिक की मौत, विश्व में मृतक संख्या 25 लाख के पार
चित्र