वाराणसी से प्रियंका के चुनाव लड़ने के सवाल पर बोले राहुल, सस्पेंस बना रहे तो अच्छा है

 

कांग्रेस पार्टी की महासचिव और पूर्वी उत्तरप्रदेश की पार्टी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा के वाराणसी से चुनाव लड़ने की अटकलें हैं। वहीं जब कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने भी इस बात को खारिज नहीं किया।



द हिंदू को दिए साक्षात्कार में इस मामले पर राहुल ने कहा, "मैं आपको सस्पेंस पर छोड़ता हूं। सस्पेंस हमेशा गलत नहीं होता है।" जब राहुल से पूछा गया कि क्या आप इसे खारिज नहीं करते हैं। तो इसपर उन्होंने जवाब दिया, "मैं किसी भी चीज की पुष्टि या खंडन नहीं कर रहा हूं।" राहुल का कहना है कि सस्पेंस बना रहे तो अच्छा है। 

बड़ा दांव चल सकती है कांग्रेस


देश में मचे चुनावी घमासान के बीच चर्चा है कि कांग्रेस, पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ सबसे बड़ा दांव चल सकती है। वाराणसी से प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ कांग्रेस महसचिव प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने की खबरें चर्चा में हैं।

खबरों के मुताबिक प्रियंका गांधी ने वाराणसी के कांग्रेस कार्यकर्ताओं के आग्रह के बाद वहां से चुनाव लड़ने के लिए हामी भर दी है, लेकिन अंतिम फैसला पार्टी हाईकमान लेगा। 

वहीं प्रियंका भी चुनाव लड़ने के संबंध में कह चुकी हैं कि पार्टी का फैसला उन्हें मंजूर होगा। राहुल गांधी ने भी इसे लेकर इतना ही कहा था प्रियंका चाहेंगी तो इस पर विचार किया जाएगा।

इसके अलावा प्रियंका ने भी कई मौकों पर वाराणसी से चुनाव लड़ने बात से कभी साफ इनकार नहीं किया है। रायबरेली में जब पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनसे चुनाव लड़ने की बात की थी तब भी उन्होंने वाराणसी का नाम लेकर टाल दिया था। इसके अलावा उनकी गंगा यात्रा भी प्रयागराज से शुरू हो कर वाराणसी के अस्सी घाट पर ही खत्म हुई थी।

वाड्रा ने किया इशारा


रॉबर्ट वाड्रा भी इशारा कर चुके हैं कि वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ प्रियंका गांधी वाड्रा मैदान में उतर सकती हैं। वाड्रा ने कहा कि प्रियंका वाराणसी से लड़ने को तैयार हैं। हालांकि, इस पर अंतिम फैसला पार्टी ही करेगी। हम पूरी मेहनत और लगन से काम करेंगे।

प्रियंका के वाराणसी से उतरने के सियासी मायने बेहद खास हैं। इस सीट से पीएम मोदी खड़े हैं। 2014 में मोदी पहली बार यहां से लड़े थे। इस बार कांग्रेस वाराणसी की लड़ाई को मोदी बनाम प्रियंका बनाने की कोशिश कर सकती है। 

वाराणसी में अंतिम चरण में यानी 19 मई को मतदान होना है। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी 26 अप्रैल को यहां से नामांकन कर सकते हैं।



टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
कोरोना वायरस: भारत में 1.56 लाख से अधिक की मौत, विश्व में मृतक संख्या 25 लाख के पार
चित्र
राम नाम सत्य है - प्रेम श्रीवास्तव
चित्र