पुणे में दर्दनाक हादसा: 15 लोगों की मौत, मृतकों में ज्यादातर बिहार और बंगाल से

 नई दिल्ली/महाराष्ट्र: महाराष्ट्र में इस समय तेज बारिश हो रही है. बारिश की वजह से शुक्रवार को पुणे में एक दर्दनाक हादसा हो गया है. यहां एक दीवार गिरने की वजह से 15 लोगों की मौत हो गई है. मामला कोंढवा क्षेत्र का है. रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. एएनआई ने जो तस्वीर जारी की है, उसमें नजर आ रहा है कि एक सोसाइटी के बाहर काफी भीड़ है और कई कारें गिरी हुई दिखाई दे रही हैं, बचावकर्मी राहत कार्य में लगे हुए हैं. महाराष्ट्र में इस समय तेज बारिश हो रही है. एनडीआरएफ की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी हुई है और दमकल विभाग मौके पर मौजूद है. मिली जानकारी के मुताबिक मृत लोगों में 4 बच्चे और एक महिला है.


खबरों के मुताबिक कोंधवा इलाके में झुग्गियों पर दीवार गिर गई. मलबे में 3 लोग फंसे हैं जिन्हें निकाला जा रहा है. कुल 15 लोगों के फंसे होने की खबर आई थी. बारी बारिश के चलते यह दर्दनाक हादस हुआ. 60 फुट लंबे चौड़े कंपाउंड की दीवार बगल में झुग्गियों पर गिर गई जिसमें सोए कई लोग दब गए. दमकल विभाग के मुताबिक मरने वालों में 4 बच्चे भी शामिल हैं. गंभीर रूप से घायल दो लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है.


घटना के बारे में पुणे के जिलाधिकारी ने कहा कि 'भारी बारिश के कारण दीवार गिरी. इस घटना के बाद शुरुआती जांच में कंस्ट्रक्शन कंपनी की गड़बड़ी सामने आ रही है. 15 लोगों की मौत छोटी घटना नहीं है. मृतकों में ज्यादातर बिहार और बंगाल के लोग हैं. पीड़ितों की हरसंभव सहायता की जा रही है.'


पुणे में दीवार ढहने से 15 की मौत, डीएम ने कहा- तेज बारिश की वजह से हुआ हादसा, कंस्ट्रक्शन कंपनी की लापरवाही की भी बात सामने आ रही है, मृतकों में ज्यादातर बिहार और बंगाल से आए मजदूर हैं.


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
राज्यपाल अनंदीबेन पटेल से से प्रशिक्षु IAS अफ़सरों नज की मुलाक़ात !!
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
गोवंश का संरक्षण एवं संवर्द्धन राज्य सरकार की प्राथमिकता - धर्मपाल सिंह
चित्र