कर्नाटक Update: कांग्रेस विधायक दल की बैठक शुरू, अज्ञातवास पर बागी विधायक

खास बातें



  • इस्तीफा दे चुके बागी विधायक अपने फैसले पर अड़े हुए हैं और पल-पल अपना ठिकाना बदल रहे हैं। 

  • मुख्यमंत्री कुमारस्वामी बोले- सरकार को खतरा नहीं, बागी विधायकों पर आज फैसला लेंगे स्पीकर।

  • दो मंत्रियों ने और छोड़ा साथ, येदियुरप्पा ने सीएम कुमारस्वामी से मांगा इस्तीफा।

  • अब तक 15 विधायकों का इस्तीफा, गठबंधन के पास मात्र 103 विधायक बचे।



 

कर्नाटक में बड़े सियासी घटनाक्रम के बीच आज बागी विधायकों के इस्तीफे पर विधानसभा अध्यक्ष फैसला ले सकते हैं। बंगलूरू में विधानसभा में कांग्रेस विधायक दल की बैठक हो रही है। इस बैठक में शामिल होने के लिए सिद्दारमैया, प्रियांक खड़गे और अन्य कांग्रेसी नेता पहुंचे हैं। 
 

वहीं बागी विधायकों को संतुष्ट करने के लिए गठबंधन ने उन्हें मंत्रीपद देने पर विचार किया था लेकिन ये दांव भी सफल नहीं हो पाया। इन बागी विधायकों ने सोमवार सुबह होटल में आयोजित एक बैठक में कहा कि मौजूदा सरकार में मंत्री बनने का कोई फायदा नहीं है, क्योंकि कांग्रेस सरकार की स्थिरता को आसानी से हिलाया जा सकता है। भाजपा भी राज्य के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी से इस्तीफे की मांग कर रही है। 

दूसरी ओर भाजपा की शोभा करंदलाजे का कहना है, "अब हमारी संख्या कांग्रेस-जेडीएस विधायकों से अधिक है। हम करीब 107 हैं, उनकी संख्या 103 है। मुझे लगता है कि राज्यपाल को सरकार बनाने के लिए भाजपा को बुलाने का फैसला करना चाहिए।"

तो गोवा पहुंच सकते हैं विधायक?


समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार सोमवार को मुंबई से गोवा के लिए रवाना हुए बागी विधायकों को पुणे लाया गया है। और अब माना जा रहा है कि उन्हें मंगलवार को विशेष विमान से गोवा लाया जाएगा।

रिपोर्ट के अनुसार इन विधायकों को पहले सड़क के रास्ते से मुंबई भाजपा युवा मोर्चा अध्यक्ष मोहित भारतीय के साथ गोवा ले जाया जा रहा था, लेकिन बाद में पुणे लाया गया। अब माना जा रहा है कि ये यहां से गोवा के लिए निकलेंगे। संभावना है कि विधायकों को गोवा में एक रिजॉर्ट में ठहराया जाएगा।

मुंबई या गोवा में हैं बागी विधायक, सस्पेंस


हालांकि समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक बागी विधायकों को पहले पुणे और बाद में गोवा भेजने की योजना बनी थी लेकिन वह फिलहाल में मुंबई में ही कहीं ठहरे हुए हैं।

आज फैसला लेंगे स्पीकर  aajkamatdata.page


बागी विधायकों के इस्तीफे पर स्पीकर केआर राकेश कुमार मंगलवार को फैसला लेंगे। शनिवार को कांग्रेस के 10 और जेडीएस के 3 विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद सरकार मुश्किलों में घिर गई थी। नागेश और आर शंकर के इस्तीफे के बाद सरकार के पास 116 विधायकों (कांग्रेस-78, जदएस-37, बसपा-1) का समर्थन है। अगर 13 विधायकों के इस्तीफे स्वीकार हो जाते हैं तो गठबंधन के बाद 103 विधायक होंगे और सरकार बनाने के लिए बहुमत का आंकड़ा 113 है।  

भाजपा का हिस्सा बनना चाहते हैं


इन विधायकों का कहना है कि ये अपने इस्तीफे पर दृढ़ हैं और भाजपा की अगुवाई वाली सरकार का हिस्सा बनना चाहते हैं। कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन ने मौजूदा संकट को दूर करने के लिए पार्टी के वरिष्ट नेता डीके शिवकुमार को इन विधायकों को मनाने की जिम्मेदारी सौंपी थी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जब बागी विधायक मुंबई में थे तब भाजपा नेताओं ने उनपर नजर बनाए हुई थी। भाजपा नेताओं ने इस बात का दावा भी किया था कि इस समूह में और भी बागी विधायक शामिल हो सकते हैं। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी मुंबई के इस होटल के बाहर सोमवार को प्रदर्शन करते हुए बागी विधायकों से इस्तीफा वापस लेने की मांग की थी।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
ईद उल अजहा की पुरखुलूस मुबारकबाद -अजय गुप्ता महासचिव केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन
चित्र