मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ - गुरु परंपरा ने बलिदान दिया

योगी सरकार में इकलौते सिख मंत्री बलदेव सिंह औलख कार्यक्रम को सम्बोधित किया।


सरकारें आईं और गईं लेकिन किसी सरकार की हिम्मत नहीं पड़ी गुरुजी के कार्यक्रम को मनाने की ये हमारी पार्टी के बड़े लीडरों ने फैसला लिया :- बलदेव सिंह औलख


इस बार एक को परखा है पार्टी ने आगे और भी नौजवान हैं उनको भी मौका देगी ऐसा आग्रह करता हूँ :- बलदेव सिंह औलख


: *पहले यहां मुख्यमंत्री के आवास पर रोजे खुलते थें अजान भी लगती थी ,आज कीर्तन हुआ है :- बलदेव सिंह औलख*


: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ - जब बाबर के अत्याचार से धरती कांप रही थी , तब भी गुरु नानक जी ने उसकी बर्बरता के खिलाफ आवाज उठाने में कोई कमी नही छोड़ी ।


शस्त्र और शास्त्र का जो समन्वय यहाँ है , वैसा कही भी नही है ।ये गुरु कृपा ही है कि कोई भी सिख कभी सर नही झुकता ।
मुख्यमंत्री- आज कोई भी सिख परिश्रम से नही भागा ।भारत की 130 करोड़ की आबादी को लेकर , गुरु नानक जी का संदेश मानवता के लिए फैलाया जाए ।
 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ - गुरु परंपरा ने बलिदान दिया , यह बताने वाली बात है । इसकी जानकारी आज की पीढ़ी को होना चाइए ।


इस परंपरा को स्कूलों तक पहुचना जरूरी है ।


आज हम सब की जिम्मेदारी बनती है कि हम सिख परंपरा के बारे में बालक बालिकाओं को अवगत कराएं ।
मुख्यमंत्री- सिख के लिए कुछ भी असंभव नही होता है ।


आज देश मे सिख रेजमेंड भी है ।


: भारत सरकार ने एक कमेटी गठित करके इस कार्यक्रम को सभी प्रदेशो में मनाने का फैसला किया है :- सीएम योगी


गुरु की प्रेरणा से इस 550 वें प्रकाशोत्सव के बारे में गुरुओं से जुड़े हुए स्थलों के बारे में हम सोचे :- सीएम योगी


आज हम लोग आलस करते हैं उन स्थलों तक जाने की लेकिन गुरु नानक जी के समय में साधन नहीं थें फिर भी उन्होंने मक्का मदीने तक जाकर अपने चमत्कार दिखाएं :- सीएम योगी


बाबर के अत्याचार का विरोध करने में कोई भी संकोच गुरुजी के द्वारा नहीं किया गया यहीं प्रेरणा है :- सीएम योगी


शस्त्र और शास्त्र दोनों का समन्वय देखने को मिला ,लगता था तब आजादी का स्वाद देश नहीं चख पाएगा धर्म नहीं बच पाएगा


जिन लोगों ने संकल्प लिया था जनेऊ मंदिर तोड़कर धर्म नष्ट कर देने का उसके खिलाफ सिख समाज खड़ा हुआ था :- सीएम योगी


कोई भी सिख देश और दुनिया मे कभी झुकता नहीं है , यूपी के तराई क्षेत्रो का औद्योगिक क्षेत्रों का विकास,भक्ति शक्ति परिश्रम से कभी कोई सिख पीछे नहीं भागा:- सीएम योगी


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
ईद उल अजहा की पुरखुलूस मुबारकबाद -अजय गुप्ता महासचिव केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन
चित्र