Shekh Hasina Case: नौ कार्यकर्ताओं को मृत्युदंड, 25 को आजीवन कारावास

बुधवार को बांग्लादेश की एक अदालत ने प्रधानमंत्री शेख हसीना पर 25 साल पहले हमले के एक मामले में बीएनपी के नेतृत्व वाले एक गठबंधन के नौ कार्यकर्ताओं को मृत्युदंड और 25 अन्य को आजीवन कारावास की सजा सुनायी। यह मामला तब का है जब शेख हसीना विपक्ष की नेता थीं।



बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) की अध्यक्ष खालिदा जिया के प्रधानमंत्री के तौर पर पहले कार्यकाल के दौरान हसीना पर यह हमला हुआ था। मीडिया में आयी खबरों के अनुसार,अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश रूस्तम अली ने ट्रेन पर हमला करने के मामले में पबना की अदालत ने नौ लोगों को मृत्युदंड और 25 अन्य को आजीवन कारावास की सजा सुनायी है।


 


एजेंसी भाषा के अनुसार, मीडिया की खबरों के मुताबिक इस संबंध में 13 लोगों को 10 साल जेल की सजा भी सुनायी गयी। प्रधानमंत्री हसीना 23 सितंबर, 1994 को राष्ट्रव्यापी प्रचार अभियान का नेतृत्व कर रही थीं। वह जिस ट्रेन से यात्रा कर रही थीं उसके पबना के इश्वार्दी पहुंचने पर उनके डिब्बे पर क्रूड बमों और गोलियों से हमला किया गया।


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
ईद उल अजहा की पुरखुलूस मुबारकबाद -अजय गुप्ता महासचिव केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन
चित्र