विश्व जनसंख्या दिवस आज: उत्तर प्रदेश की सकल प्रजनन दर में भी गिरावट दर्ज की गयी

लखनऊ: दिनांक 10.07.2019 विश्व जनसंख्या 2019 की पूर्व संन्ध्या पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह की अध्यक्षता मे ंएक प्रेस कान्फ्रेन्स का आयोजन किया गया। 


मंत्री द्वारा प्रदेश के स्वास्थ्य सूचकांकों के अपेक्षित सुधार में परिवार कल्याण कार्यक्रम की महत्ता पर विस्तार से अवगत कराया गया। वर्तमान में प्रदेश की मातृ मृत्यु दर 201 प्राप्त किये जाने में परिवार कल्याण कार्यक्रम की महत्ता को नकारा नहीं जा सकता है। प्रमाण है कि उपरोक्त अवधि के दौरान ही एनएफएचएस-4 के आॅंकड़ों के अनुसार प्रदेश की सकल प्रजनन दर में भी गिरावट दर्ज की गयी। वर्तमान में प्रदेश की सकल प्रजनन दर 2.7 है, जिसको निकट भविष्य में 2.1 तक प्राप्त किया जाना है।



विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी विश्व जनसंख्या दिवस दिनंाक 11 जुलाई 2019 को मनाया जा रहा है। इस अवसर पर 11-24 जुलाई 2019 को ''जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा'' घोषित किया गया है तथा जनसंख्या स्थिरता के सम्बन्ध में जन जागरुकता बढ़ाने के लिए ''परिवार नियोजन से निभाएं जिम्मेदारी, माॅ और बच्चे के स्वास्थ्य की पूरी तैयारी' थीम निर्धारित किया गया है। इसी क्रम में पूरे प्रदेश में 11 से 24 जुलाई के मध्य जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाया जायेगा । इस पखवाड़े के दौरान राज्य एवं जनपद की स्वास्थ्य इकाईयों पर जनमानस के मध्य परिवार नियोजन के स्थाई एवं अस्थायी विधियों का प्रचार-प्रसार किये जाने के साथ-साथ लाभार्थियों को उनकी इच्छानुसार गर्भनिरोधक साधन उपलब्ध कराये जायेंगें।



इस दौरान जनपद स्तर पर स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया जायेगा। राज्य स्तर पर विश्व जनसंख्या दिवस 11 जुलाई 2019 को निम्न गतिविधियां सम्पादित की जानी हैं - स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री उत्तर प्रदेश द्वारा जनजागरूकता रैली का शुभारम्भ शहीद स्मारक से प्रातः 8ः30 बजे किया जाएगा। जनजागरूकता रैली का समापन केडी सिंह बाबू स्टेडियम पर किया जाएगा। 
इस रैली में पीएफआई संस्था के द्वारा जन समुदाय के मध्य हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा।
रैली में मोटरसाईकिल सवार व विभिन्न पैरामेडिकल कालेजों के छात्र व छात्राएं तथा समस्त सहयोगी संस्थाओं के वालेन्टियर व प्रतिनिधि शामिल होंगे।



प्रदेश में परिवार कल्याण कार्यक्रम अन्तर्गत कार्य कर रहे गैर सरकारी संस्थाओं जैसे कि सिफ्सा, यूपीटीएसयू, जपाईगो, आईपास, जीएचएस, एब्ट एसोसिएट्स, एफआरएचएस एचएलएपीपीटी, एफपीआई, एफपीएआई, मोबियस फाउन्डेशन, पीएसआई, आदि द्वारा सहयोग प्रदान कर परिवार नियोजन की सेवाएॅं वृहद रूप में उपलब्ध करायी जायेगीं।


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
स्वास्थ्य के प्रति हमेशा सजग रहे डॉक्टर नीतिका शुक्ला
चित्र
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के साथ विकसित होने वाले औद्योगिक क्लस्टर के माध्यम से बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे
चित्र
पीएम मोदी का रोड शो, 400 पार के नारे से गूंजा गाजियाबाद
चित्र
कोरोना वायरस: भारत में 1.56 लाख से अधिक की मौत, विश्व में मृतक संख्या 25 लाख के पार
चित्र