राजकुमारी के बाद अब मेवाड़ राजघराने ने किया दावा, हम हैं भगवान राम के वंशज

जयपुर। राजस्थान के दो पूर्व राजघरानों (Royal Family Of Rajasthan) में खुद को भगवान राम (Descendants Of Lord Rama) का वंशज बताने की होड़ मच गई है। भाजपा सांसद (BJP Lawmaker And Member) और पूर्व जयपुर राजघराने की सदस्य पूर्व राजकुमारी दीया कुमारी (Jaipur Royal Family Diya Kumari) द्वारा भगवान राम का वंशज होने का दावा किए जाने के बाद इस पर बहस छिड़ गई है। अब इस मुद्दे पर राजस्थान के एक और राजघराने ने इस पर दावा कर दिया है।


दीयाकुमारी के बाद अब पूर्व मेवाड़ राजघराने उदयपुर (Royal Family Of Udaipur) के अरविंद सिंह मेवाड़ (Arvind Singh Mewar) ने भी खुद को भगवान राम का वंशज बताया है। मेवाड़ ने ट्वीट किया है, यह ऐतिहासिक रूप से सिद्ध है कि मेरा परिवार श्री राम का प्रत्यक्ष वंशज है। उन्होंने आगे लिखा है, 'हम राम जन्मभूमि पर कोई दावा नहीं करना चाहते लेकिन हमारा मानना है कि अयोध्या में राम जन्मभूमि पर श्री राम मंदिर अवश्य बनना चाहिए।


मेवाड़ प्रत्यक्ष रूप से किसी राजनीतिक पार्टी से नहीं जुड़े हैं। वहीं जयपुर के पूर्व राजघराने की सदस्य दीया कुमारी राजसमंद से भाजपा की सांसद हैं। दीया कुमारी कह चुकी हैं कि भगवान राम के वंशज दुनिया भर में हैं जिनमें उनका परिवार भी है। सांसद के अनुसार उनका परिवार भगवान राम के बेटे कुश का वंशज है।


दीयाकुमारी ने हाल ही में कहा, 'हम भगवान राम के वंशज है। इसका आधार हमारे पास हस्तलिपि, वंशावली, दस्तावेज हमारे पोथी खाने में मौजूद है। उल्लेखनीय है कि राम जन्म भूमि विवाद में उच्चतम न्यायालय में सुनवाई चल रही है। सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि अयोध्या के मामले की सुनवाई करते हुए यह पूछा था कि क्या राम का कोई वंशज है? भगवान राम के वंशज होने को लेकर राजस्थान में कई नेताओं के बयान आ चुके हैं।


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
आंचलिक पत्रकार और पत्रकारिता की गिरती साख- प्रेम श्रीवास्तव
जी-20 के आयोजन से पूरे विश्व में भारत का गौरव बढ़ा है डॉ राजेश राजौरा
चित्र
हर महिला की लड़ाई, हमारी लड़ाई है- अल्का लांबा
चित्र
वर्तमान समय में आंखों का इलाज अत्याधुनिक हो चुका है डॉ अजय कुमार गर्ग
चित्र