चिन्मयानंद केस: SIT जांच पूरी, BJP नेता के लैपटॉप से मिले पीड़िता के अश्लील वीडियो


शाहजहांपुर: पूर्व गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद के मामले में स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) ने अपनी जांच पूरी कर ली है. इस मामले में एसआईटी को बीजेपी के एक नेता के लैपटॉप से अश्लील वीडियो भी मिले हैं. मंगलवार को एसआईटी ने इस मामले में प्रेस कांफ्रेंस कर मामले की जानकारी दी. एसआईटी (SIT) प्रमुख आईजी नवीन अरोड़ा ने बताया कि डीपीएस राठौर (DPS Rathore) और अजीत सिंह (Ajit Singh) नाम के दो लोग सामने आए हैं. जब पीड़िता और संजय की बरामदगी हुई थी उस दौरान भी यह लोग मौजूद थे. एसआईटी चिन्मयानंद के खिलाफ यौन शोषण और उनसे रंगजारी मांगने के मामले की जांच कर रही है.



एसआईटी प्रमुख आईजी नवीन अरोड़ा ने बताया कि एसआईटी को डीपीएस राठौर के लैपटॉप और मोबाइल से चिन्मयानंद के अश्लील वीडियो मिले थे. एसआईटी के अनुसार रंगदारी के मामले में भी ये आरोपी हैं. वहीं स्वामी चिन्मयानंद पर धारा 376 सी 354d, 342, 506 के तहत आरोप सही पाए गए हैं. एसआईटी ने रंगदारी के मामले में संजय, पीड़ित छात्रा, सचिन विक्रम सिंह को भी आरोपी बनाया गया है.


डीपीएस राठौर और अजीत के खिलाफ मिले सबूत
एसआईटी को बीजेपी नेता डीपीएस राठौर और अजीत के खिलाफ सबूत मिले हैं. नवीन अरोड़ा ने बताया कि पीड़िता की राजस्थान से बरामदगी के दौरान मौजूद थे डीपीएस राठौर और अजीत मौजूद थे. जांच में यह भी पता चला कि पीड़िता ने नीले सफेद पाउच में कुछ पेन ड्राइव अजीत को दी थीं. इन्हीं दोनों ने पीड़िता को सलाह दी थी कि अगर पुलिस ने गिरफ्तार किया तो वह सबूतों को तलाशी में बरामद कर लेगी इसलिए वह उन्हें सभी सबूत सौंप दे.


सवा करोड़ मांगी थी रंगदारी
आईजी नवीन अरोड़ा ने बताया कि दोनों आरोपियों ने सबूतों की एक कॉपी बनाई और चिन्मयानंद से वसूली में शामिल हो गए. इन्हीं आरोपियों ने रंगदारी की बात की थी. डीपीएस राठौर और अजीत ने चिन्मयानंद से सवा करोड़ रुपये रंगदारी मांगी थी. उन्होंने कहा कि एसआईटी ने अपनी जांच पूरी कर ली है. चार्जशीट में सभी का नाम शामिल है. इस मामले को कोर्ट के सामने रखा जाएगा.




 

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
एलआईसी विश्वास और पारिवारिक सुरक्षा ,उज्जवल भविष्य और सम्मान का प्रतीक है प्रशांत वशिष्ठ,
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
कोरोना वायरस: भारत में 1.56 लाख से अधिक की मौत, विश्व में मृतक संख्या 25 लाख के पार
चित्र