नागरिकता कानून: जामिया के चीफ प्रॉक्टर बोले- जबरन पुलिस घुसी और छात्रों को पीटा

नई दिल्ली. जामिया की कुलपति नजमा अख्तर ने 'पीटीआई से कहा कि लाइब्रेरी के भीतर मौजूद छात्रों को निकाला गया है और वे सुरक्षित हैं, पुलिस की कार्रवाई निंदनीय है। वहीं प्रदर्शन हिंसक होने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि हम हरसंभव कदम उठा रहे हैं, असली बदमाशों की पहचान होनी चाहिए और उन्हें सजा मिलनी चाहिए। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के उपराज्यपाल से बात की, उनसे जामिया विश्वविद्यालय के समीप हिंसा के बाद शांति बहाल करने के लिए हरसंभव कदम उठाने का अनुरोध किया।


नागरिकता कानून को लेकर रविवार को दिल्ली में जामिया विश्वविद्यालय के समीप हो रहा विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गया। जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने डीटीसी की तीन बसों को आग के हवाले कर दिया। इस हिंसक प्रदर्शन को लेकर जामिया के चीफ प्रॉक्टर ने कहा पुलिस जबरन परिसर में घुसी, अनुमति नहीं ली गई, कर्मचारियों, छात्रों को पीटा गया, उन्हें परिसर से जाने को मजबूर किया गया।


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
कोरोना वायरस: भारत में 1.56 लाख से अधिक की मौत, विश्व में मृतक संख्या 25 लाख के पार
चित्र
राम नाम सत्य है - प्रेम श्रीवास्तव
चित्र