कोरोना संकट: आयोजनकर्ता को महंगा भी पड़ सकता है बेवजह लोगों का समूह एकत्र करना


 लखनऊ। यूपी में कोरोना वायरस की दस्तक के बीच राज्य सरकार एहतियात के कई कदम उठाएं हैं। इस क्रम में ऐसे आयोजनों पर भी नजर रखी जाएगी जिसमें लोगों का सूह एकत्र हो रहा हो। जिला प्रशासन को निर्देश दिये गये हैं कि अगर आयोजन अति आवश्यक न हों तो आयोजनकर्ता से टालने का प्रयास करवाया जाय। इस निर्देशों के मद्देनजर माना जा सकता है कि बेवजह लोगों का समूह एकत्र करना आयोजनकर्ता को महंगा भी पड़ सकता है।


 


प्रदेश के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने नोवल कोरोना वायरस 2019 के नियंत्रण एवं उसके संक्रमण से बचाव हेतु प्रदेश के सभी सभी नगरीय निकायों में विशेष अभियान चलाकर प्रदेश की जनता को इस वायरस के संक्रमण से रोकथाम हेतु विशेष अभियान चलाकर जागरूक करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु नगर आयुक्त, अधिशासी अधिकारी अपने-अपने निकाय में विशेष कार्य दल, जिसमें नगर निकाय के अधिकारी, कर्मचारी, व कूड़ा उठाने के वाहन, मशीन व अन्य उपकरणों के साथ क्षेत्र में निकलेंगे व स्वयं की देख-रेख में निर्धारित क्षेत्र को साफ करायेंगे। यह सफाई अभियान प्रत्येक वार्ड में संचालित किया जाना है। इस दौरान नगर आयुक्त, अधिशासी अधिकारी अपने अधीनस्थ अधिकारियों को विशेष सफाई टीम के नेतृत्व की वार्डवार जिम्मेदारी तय करते हुए नामित करेंगे। सफाई के दौरान एकत्रित किये गये कूड़े को उसी समय सेनेटरी लैण्डफिल साइट पर भिजवाया जायेगा। इस अभियान के तहत नाले व नालियों की भी सफाई करवाई जाय।



श्री टंडन ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम हेतु आम जनमानस के मध्य उपरोक्त विषयगत समुचित जानकारी एवं संवेदीकरण किये जाने के विषयगत विशेष रूप से प्रचार-प्रसार अभियान प्रत्येक निकाय में वार्ड स्तर पर प्रभावी रूप से सुनिश्चित किया जाये। उपरोक्त विषयगत प्रचार-प्रसार सामग्री विषयक नमूने चिकित्सा विभाग द्वारा तैयार कराये गये हैं, जिसकी प्रति ई-मेल से भी आप सभी को प्रेषित की जा रही है। तदनुसार आम जन मानस को कोरोना वायरस बीमारी से बचाव से सम्बंधित उपायों के बारे में जानकारी दिये जाने के लिए समुचित प्रचार-प्रसार तत्काल सुनिश्चित किया जाये। सार्वजनिक स्थलों, शासकीय भवनों एवं अन्य प्रमुख स्थलों आदि पर पोस्टर, बैनर, होर्डिंग, हैंडबिल के माध्यम से प्रभावी रूप से नगरीय क्षेत्र में व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित किया जाये। कोरोना वायरस हेतु आई0ई0सी0 मद में निकायों को पर्याप्त धनराशि पहले से ही उपलब्ध है। साथ ही इस विशेष प्रचार अभियान में निकायों को लगभग 3.82 करोड़ की धनराशि विशेष रूप से अवमुक्त की गयी है।



नगर विकास मंत्री जी ने कहा कि इस बीमारी के वायरस के संक्रमण को प्रभावी रूप से रोके जाने हेतु समुचित रुप से साफ-सफाई प्रत्येक ऐसे स्थल या प्रतिष्ठान पर करवाया जाये जहां व्यक्तियों का समूह इकट्ठा होता हो जैसे सिनेमाहाल परिसर, माॅल, बस स्टेशन, होटल। उन्होंने कहा कि इस समय यही उचित होगा कि जिला प्रशासन के साथ समन्वय कर किसी प्रकार के सामूहिक आयोजनों अथवा सार्वजनिक स्थल पर होने वाले कार्यक्रमों को यथा सम्भव वर्तमान में हतोत्साहित किया जाये। उन्होंने कहा कि यदि अपरिहार्य कारणों से जन समूह के एकत्रित होने सम्बंधी कोई आयोजन यदि निकाय क्षेत्र में होता है तो वहां पर उपरोक्त समारोह के आयोजक के साथ समन्वय कर कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव सम्बंधित संदेश के विषयगत प्रचार-प्रसार भलीभांति सुनिश्चित कर आम जनमानस को जागरूक किया जाये। साथ ही साथ ऐसे सार्वजनिक स्थल और प्रतिष्ठान जहां पर भीड़-भाड़ रहती है अथवा समूहों में व्यक्तियों का आना-जाना होता हो ऐसे जगहों पर विशेष सफाई की व्यवस्था के विषयगत चिकित्सा विभाग द्वारा दिये गये सुझाव के अनुरूप 1 प्रतिशत हाईपोक्लोराइट साॅल्यूशन, ब्लीचिंग साॅल्यूशन के द्वारा नियमित रूप से परिसरों की विशेष सफाई नियमित रूप से करवाई जाय।



श्री टंडन ने कहा कि इस सफाई अभियान के दौरान ऐसे जगहों को चिन्हित किया जाय जहां पर पानी जमा रहता हो ऐसे जगहों पर दवा का छिड़काव कराएं व नियमित फांिगंग भी करवाया जाय। इसके साथ ही सामुदायिक शौचालय, पब्लिक टायलेट की भी समुचित सफाई और रखरखाव किया जाय। उन्होंने कहा कि शुद्ध पेयजल के लिए नलकूप, पाइप लाइन एवं अन्य उपकरणों का संचालन सफाई से किया जाये। जिन क्षेत्रों में पेयजल हेतु हैण्डपम्प लगे हैं उन क्षेत्रों के हर घर को क्लोरीन की टेबलेट उचित मात्रा में बंटवाई जाएं।




 

टिप्पणियाँ