कुष्ठ रोगों के प्रति सरकार और जनता को ज्यादा जागरूक होने की आवश्यकता है - डॉक्टर दीप्ति सक्सेना

        डॉक्टर दीप्ति सक्सेना ,

हिंदी दैनिक आज का मतदाता गाजियाबाद  शास्त्री नगर, राजनगर एक्सटेंशन डॉक्टर दीप्ति सक्सेना जो कि चर्म रोग कुष्ठ रोग और सौंदर्य विशेषज्ञ हैं एक संक्षिप्त एवं महत्वपूर्ण वार्ता के अंतर्गत वर्तमान समय में चल रहे चर्म रोग रोग एवं कुष्ठ रोग से संबंधित कई सवालों के जवाब में अपनी बात रखते हुए कहा कि आज सभी तरह के बीमारियों के प्रति सरकार एवं जनता की जागरूकता की आवश्यकता है लेकिन कुछ रोग ऐसे हैं जिन्हें समझने और पनपने में वक्त लग जाता है चर्म रोग और कुष्ठ रोग इनमें से प्रमुख है मेरा मानना है जो कि सत्य है कि कुष्ठ रोग भारत देश में अभी समाप्त नहीं हुआ है इसलिए इस रोग की गंभीरता को देखते हुए मेरी अपील है कि सरकार और जनता इस रोग के प्रति ज्यादा से ज्यादा जागरूक हो और लोगों को जागरूक कराएं भी , जिससे कि वक्त रहते ही इस रोग को ठीक कर लिया जाए। महिलाओं के प्रति सुंदरता को लेकर उत्सुकता तथा उनमें तेजी से हो रहे चर्म रोग से संबंधित सवाल के जवाब में आपने कहा कि चर्म रोग से महिलाओं के आत्मविश्वास में कमी आती है इसलिए बहुत आवश्यक है कि महिलाएं गूगल या यूट्यूब को देखकर अपने चेहरे पर कोई भी गोरा होने या ठीक होने, या निखार लाने, के ट्यूब का इस्तेमाल ना करें ,बल्कि अपने डॉक्टर से सलाह करके अपनी त्वचा के अनुसार क्रीम का प्रयोग करें ।डॉ दीप्ति सक्सेना ने कहा कि आज ज्यादातर महिलाएं प्रोफेशनल है चाहे आईटी सेक्टर हो या सर्विस सेक्टर  सभी में महिलाओं की भागीदारी बढ़ती जा रही है, इसलिए बहुत महत्वपूर्ण  हो जाता है कि महिलाएं अपने सौंदर्य का ध्यान रखें जिससे उनका विश्वास दूसरे शब्दों में कहें कि उनका आत्मविश्वास  कम ना हो लेकिन उन्हें अपनी त्वचा की बनावट के अनुसार डॉक्टर से सलाह लेकर ही किसी भी  प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना चाहिए और यदि उनके शरीर में कहीं भी चर्म रोग की शुरुआती लक्षण दिखाई देता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क कर उसका इलाज प्रारंभ करना चाहिए

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
ईद उल अजहा की पुरखुलूस मुबारकबाद -अजय गुप्ता महासचिव केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन
चित्र