क्या गंगा में बहती लाशें नई बीमारियों का जन्म देंगी, विकास गोयल

 


गाजियाबाद हिंदी दैनिक आज का मतदाता, रिपोर्टर विकास गोयल ने वर्तमान करोना महामारी की दूसरे पहलू पर चर्चा करते हुए कहा कि 2021 में आई करोना ने  देश की स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी और आधुनिक स्थिति की पोल खोल दी है, आज लोगों में दहशत का माहौल है, देश के करोड़ों नागरिक मौत के मुहाने पर खड़े हैं, और सरकार से बुनियादी स्वास्थ्य सुविधा की मांग करते थक नहीं रहे हैं, लेकिन सरकार का प्रयास ऊंट के मुंह में जीरा है । आज सरकार ने पूर्व में अपनी कोई भी तैयारी नहीं की है जिसका सारा खामियाजा आम जनमानस को अपनी जान गवा कर भुगतना पड़ रहा है, विकास गोयल ने कहा कि इस महामारी और त्रासदी के बीच बड़ी समस्या अब यह पैदा होने वाली है कि गंगा नहर में करोना से मृतक डेड बॉडी तैर रही हैऔर शवों का पानी में बहना कई बीमारियों को जन्म देगा, सरकार का तंत्र इतना सुस्त हो गया है कि शव  पानी में क्यों वह रहा है, उसकी जिम्मेदारी न किसी पर सुनिश्चित हो रही है और ना ही सरकार किसी को दोषी करार दे रही है। सरकार, प्रशासन हर मामले में अपनी जिम्मेदारी लेने में बच रही है लेकिन यह नदियों में लाशों का बहना अगर कम नहीं होगा तो नहीं बीमारियों का जन्म होगा जिससे की भविष्य हमारा काफी घातक रहेगा ।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
ईद उल अजहा की पुरखुलूस मुबारकबाद -अजय गुप्ता महासचिव केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन
चित्र