मिहिर सेना के विधायक उम्मीदवार विवेक पारूथी होंगे

             विवेक पारूथी

  गाजियाबाद सूत्रों के अनुसार 2022 विधानसभा चुनाव में मिहिर  सेना गाजियाबाद विधानसभा क्षेत्र के किसी भी क्षेत्र से गाजियाबाद विधानसभा के  प्रभारी विवेक पार्थसारथी को विधानसभा सीट से चुनाव के लिए  मैदान में उतार सकती है सूत्रों से यह बात सामने आई है कि विवेक पारुथी ही गाजियाबाद के भाजपा ,सपा, बसपा , या कांग्रेस के उम्मीदवार को सीधे तौर पर चुनौती दे सकते हैं मिहिर सेना ने तकरीबन 1 साल पूर्व ही इस बात की जानकारी देने की कोशिश की थी कि वह गाजियाबाद में एक ऐसा सशक्त उम्मीदवार खड़ा करने जा रहे हैं जो सभी पार्टियों के लिए चुनौती बनेगा ।विवेक पारुथी एक शिक्षित परिवार के साथ साथ व्यापारिक क्षेत्र में भी अपनी पैठ मजबूती से बनाए हुए हैं और जात-पात से ऊपर उठकर क्षेत्र की सभी जनता में अपनी लोकप्रियता धीरे-धीरे आगे बढ़ा रहे हैं, इस संबंध में विवेक पारुथी ने कहा कि जैसा  हमें पार्टी आदेशित करेगी हम अपने भविष्य की रणनीति तैयार करेंगे लेकिन हम गाजियाबाद की जनता को अब बुनियादी समस्याओं के लिए परेशान होते नहीं देखना चाहते ,क्योंकि मैं भी गाजियाबाद निवासी हूं, इसलिए हमें बहुत पीड़ा होती है कि गाजियाबाद की सड़कें, सुरक्षा व्यवस्था ,के साथ साथ अधूरी कार्यरत औद्योगिक क्षेत्रों का विकास तेजी से हो, एक समय था जब गाजियाबाद को पूरे देश में औद्योगिक नगरी के रूप में माना जाता था । मैं  गाजियाबाद को औद्योगिक क्षेत्र में बुलंदी पर पहुंचाने का भरसक प्रयास करूंगा हर औद्योगिक क्षेत्र का इंफ्रास्ट्रक्चर देश के किसी भी बड़ी इंफ्रास्ट्रक्चर से कम नहीं होगा ,यह हमारा प्रमुख उद्देश्य होगा ।विवेक पारुथी ने कहा कि गाजियाबाद की जनता जिस बुनियादी सुविधाओं की हकदार है उसे  हम  जीत के उपरांत सब कुछ उसको उपलब्ध करा कर ही  अपने मिशन को कामयाब बनाएंगे

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
ईद उल अजहा की पुरखुलूस मुबारकबाद -अजय गुप्ता महासचिव केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन
चित्र