लव जिहाद का जिन्न अब और बर्दाश्त नहीं.....धर्मांतरण के खिलाफ बेटी बढ़ाओ बेटी बचाओ भारत विकास परिषद निवेदिता

 


भारत विकास परिषद पश्चिम उत्तर प्रदेश द्वारा आयोजित वैशाली निवेदिता शाखा के आतिथ्य में आयोजित प्रांतीय ऑनलाइन वेबीनार लव जिहाद परिचर्चा बहुत ही महत्वपूर्ण रूप में सार्थक सिद्ध हुई सामाजिक समसामयिक विषय पर आज हम सभी ने जाना कि हमें बच्चों की परवरिश में क्या और कौन सी बातों का ध्यान रखना और बच्चों के हर प्रकार से उनके साथ समय व्यतीत करना अति आवश्यक है सभी ऊर्जावान प्रखर वक्ताओं ने अपनी बात को बहुत ही उत्तम और सुलझे ढंग से रखा

आदरणीय डॉ तरुण शर्मा जी राष्ट्रीय अतिरिक्त महामंत्री एनसीआर ने बहुत ही सरल शब्दों में परिवार का बच्चों के साथ रहना कितना आवश्यक है वह रामायण की चौपाई का उदाहरण देते हुए बहुत ही सुंदर उद्बोधन दिया

कबीर फाउंडेशन की संस्थापक प्रखर वक्ता अधिवक्ता समाज सेवी आदरणीय सुबुही खान जी जिन्होंने कानून और सामाजिक रुप में सुंदर विश्लेषण किया जिनका देश के प्रति प्यार और सनातन धर्म की सम्मान व बेटियों के लिए हर वक्त उनके साथ खड़े रहने व उनकी समस्याओं का निराकरण पर अपने विचार बहुत ही सुंदर रखें

संयोजक दुर्गा वाहिनी आदरणीय प्रिय मुंडे जी जो आदिवासी क्षेत्र में अपने व्यक्तिगत उदाहरण से विषय को स्पष्ट किया। और दोहरे लव जिहाद से जूझ रहे झारखंड के बारे में बताया।

राष्ट्रीय अध्यक्ष सुदर्शन वाहिनी आजाद विनोद जी का उद्बोधन सरल और स्पष्ट शब्दों में परिवार का बच्चों के साथ रहना उन्हें कभी अकेले ना छोड़ना , अपने बच्चों के  टेलीफोन नंबर सोशल मीडिया पर न शेयर करना जैसी बातों के साथ उर्जामयी  रहा

रिटायर पुलिस कमिश्नर दिल्ली श्री वेद भूषण शर्मा जी का उद्बोधन भी ऊर्जा भरा रहा। उन्होंने लव जिहाद के कानून से परिचय करवाया व उसका इतिहास बताया।

कार्यक्रम में राष्ट्रीय महिला मंत्री एवं बाल विकास आदरणीय डॉ शिप्रा धर जी का पूरे कार्यक्रम में जुड़े रहने का बहुत-बहुत आभार पूरे कार्यक्रम को संक्षिप्त कर उन्होंने कहा परिवार को समय देना अपने बच्चों पर पहले ध्यान देना सभी के लिए उनका उद्बोधन बहुत ही  ऊर्जा मई रहा

रीजनल मंत्री आदरणीय योगेश वशिष्ठ जी का उद्बोधन भी ऊर्जा मई रहा

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की चेयरपर्सन डॉ सपना बंसल ने कहा लव जिहाद प्रेम के खिलाफ नहीं है, पर दोहरी मानसिकता को स्वीकार नहीं किया जायेगा एक देश एक कानून भी लागू होना चाहिए,उनके सुंदर मंच संचालन ने कार्यक्रम को चार चांद लगा दिए।

डॉक्टर पूनम सिंह जी प्रांतीय संयोजिका ने कहा एक जुट हो कर सभी को इस मुहिम में आगे बढ़ना होगा और राष्ट्र विरोधी ताकतों को हराना होगा।

प्रांतीय महासचिव आदरणीय पंकज सक्सेना जी ने पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता के विजेताओं की घोषणा की सभी विजेताओं को बधाई एवं उस में भाग लेने वाले प्रतिभागी को बहुत-बहुत आभार जिन्होंने इतनी सुंदर पोस्टर बनाएं

वैशाली निवेदिता शाखा अध्यक्ष पूनम गोयल जी ने कहा बेटियों को शिक्षित और संस्कारित करना बहुत आवश्यक है मातापिता का उचित मार्गदर्शन बेटियों को भावी संकट से बचाने में सहायक है।

वैशाली निवेदिता शाखा सचिव रमा गुप्ता जी ने कहा की उच्च शिक्षा के साथ , योग, मार्शल आर्ट और जूडो कराटे का भी प्रशिक्षण बेटियों करना चाहिए।

वैशाली निवेदिता शाखा कोषाध्यक्ष शैल अग्रवाल जन्म से ही बेटियों का आत्मविश्वास मनोबल ऊंचा करना चाहिए, ताकि बेटा बेटी में अंतर की दुर्भावना दूर हो और बेटियां हीनता का शिकार न बनें।

वैशाली निवेदिता महिला संयोजिका अनीता जैन ने कहा इस समस्या का हल परिवार में संवाद से होगा, बच्चों को इस विषय से अवगत कराएं। ताकि वे इस राष्ट्र विरोधी जाल में न फंसे।

कार्यक्रम में संगठन मंत्री नरेंद्र जी प्रांतीय उपाध्यक्ष प्रांतीय परिषद के सभी वरिष्ठ जन जिला टीम शाखा के दायित्व धारी ज न एवं विभिन्न शाखाओं से आए हुए सभी सदस्यों की उपस्थिति को नमन जिनकी उपस्थिति ने कार्यक्रम को ऊंचाइयों तक पहुंचा कर सफल बनाया

कार्यक्रम के अंत में प्रांतीय महिला संयोजिका मुक्ता अग्रवाल एवं डॉ पूनम सिंह जी द्वारा बहुत सुंदर आभार व्यक्त किया गया

कार्यक्रम का समापन वंदे मातरम से हुआ कार्यक्रम में मुख्य रूप से सुनील वार्ष्णेय, सीमा गोयल,नीतू अग्रवाल, डॉ प्रीति गुप्ता,प्रमोद मेहरा, अनीता गुप्ता,सीमा अग्रवाल, डॉ कविता सिंह, आलोक शिवाजी,शक्ति सिंह जी की मुख्य उपस्थिति रही

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
एलआईसी विश्वास और पारिवारिक सुरक्षा ,उज्जवल भविष्य और सम्मान का प्रतीक है प्रशांत वशिष्ठ,
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
कोरोना वायरस: भारत में 1.56 लाख से अधिक की मौत, विश्व में मृतक संख्या 25 लाख के पार
चित्र