श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर कविनगर के तिरवार्षिक चुनाव सम्पन्न

 

हिंदी दैनिक आज का मतदाता श्री पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर कविनगर के त्रिवाषिक चुनाव बड़े ही शांतिपूर्ण तरीक़े से चुनाव अधिकारी श्री जीवेन्दर जैन,राकेश जैन एडवोकेट,इंजीनियर DK जैन एवं राजवीर यादव एडवोकेट के दिशा निर्देशन में संपन्न हुए।

आज के चुनाव में अध्यक्ष पद पर जम्बू प्रसाद जैन विजयी हुए जिन्हें गौरव जैन 136 बोट के मुक़ाबले 541मत प्राप्त हुए इस प्रकार जम्बू प्रसाद जैन को अध्यक्ष पद पर विजयी घोषित किया गया।उपाध्यक्ष पद पर रितेश मोदी को 155 बोट और धर्मेंद्र  जैन को 516 वोट प्राप्त हुए उप मंत्री पद पर प्रमोद कुमार जैन को 553 बोट प्राप्त हुए तथा जग भूषण जैन को 112 वोट प्राप्त हुए,कोषाध्यक्ष पद पर अशोक कुमार जैन को 154 मत तथा प्रदीप जैननेहरुनगर को 511 वोट प्राप्त हुए।इस प्रकार जम्बू प्रसाद जैन के पैनल को भारी बहुमत से विजय प्राप्त हुई।

अध्यक्ष पद पर जम्बू प्रसाद जैन,वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर श्री अशोक कुमार जैन,उपाध्यक्ष पद धर्मेन्द्र जैन,मंत्री पद पर प्रदीप जैन कविनगर उपमंत्री पद पर प्रमोद कुमार जैन,कोषाध्यक्ष पद पर प्रदीप जैन नेहरूनगर वाले विजयी हुए
श्री जम्बू प्रसाद जैन के चुनावों में अजय जैन पत्रकार,संजय जैन,सुभाष जैन,रविंद्र जैन,राजन जैन,भूपेंदर जैन,अजय जैन नेहरु नगर,अशोक जैन नेहरु नगर,बिट्टू जैन,कमलकांत जैन,रिषभ जैन,DK जैन,वी के जैन,अशोक जैन बैंक वाले,सतपाल जैन,प्रदीप जैन पटना वाले,राजेंद्र जैन,सुधीर जैन,सुशील जैन,सुनील जैन सी ए आदि का विशेष सहयोग रहा।
इस अवसर पर जम्बू प्रसाद जैन ने कहा कि यह मेरी जीत नहीं बल्कि पूरे जैन समाज की जीत है,मैं इस जीत के अवसर पर वादा करता हूँ कि जैन मंदिर कविनगर एवं पूरे जैन समाज के उत्थान के लिए मिल जुलकर भरपूर प्रयास करूँगा तथा तन मन धन से समाज के लिए समर्पित रहूंगा।इस अवसर पर उन्होने विशेष तौर पर आशीष जैन,अजय जैन पत्रकार,सुभाष जैन हूँ रिषभ जैन,संजय जैन,पंकज जैन भूपेंद्र जैन आदि का आभार व्यक्त किया तथा इस भारी जीत के लिए पूरे समाज का धन्यवाद किया।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
संसद का शीतकालीन सत्र नहीं होगा, सरकार ने जनवरी में बजट सत्र बुलाने का सुझाव दिया
चित्र
मोदी खुद शहंशाह, मेरे भाई को शहजादा बोलते हैं: गुजरात में प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री पर किया पलटवार
चित्र