मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के अन्तर्गत 4.56 नवीन लाभार्थियों सहित 55.77 लाख लाभार्थियांे के खाते में कुल 836.55 करोड़ रु0 की धनराशि ऑनलाइन हस्तान्तरित की

 मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के लाभार्थियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम  से संवाद किया




उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज यहां अपने सरकारी आवास पर आयोजित एक कार्यक्रम में राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के अन्तर्गत 4.56 नवीन लाभार्थियों सहित 55.77 लाख लाभार्थियों के खाते में कुल 836.55 करोड़ रुपये की धनराशि का बटन दबाकर ऑनलाइन हस्तान्तरण किया। मुख्यमंत्री जी ने इस अवसर पर राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के 05 जनपदों के लाभार्थियों-जनपद महराजगंज के श्री प्रहलाद, जनपद हाथरस की श्रीमती शांति देवी, जनपद सोनभद्र की श्रीमती बसंती देवी, जनपद सुल्तानपुर के श्री मनीराम एवं जनपद चित्रकूट के श्री छोटेलाल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद किया।

 
मुख्यमंत्री जी ने संवाद के दौरान सभी बुजुर्ग लाभार्थियों का कार्यक्रम में स्वागत करते हुए कहा कि सभी लाभार्थियों के खाते में 03 माह की पेंशन राशि के रूप में 1500 रुपये की धनराशि प्रेषित की गयी है। उन्होंने लाभार्थियों से पूछा कि लाभार्थियों के परिवार को शासन की किन अन्य योजनाओं का लाभ मिल रहा है। लाभार्थियों द्वारा अवगत कराया गया कि वृद्धावस्था पेंशन योजना के अलावा उनके परिवारों को उज्ज्वला योजना, सौभाग्य योजना, आयुष्मान भारत योजना, निःशुल्क खाद्यान्न, शौचालय आदि की सुविधा मिल रही है। राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना वृद्धजन के लिए एक बड़ा सम्बल है। इससे उन्हें किसी के सामने हाथ नहीं फैलाना पड़ता है।


 मुख्यमंत्री जी ने इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ राज्य के प्रत्येक जरूरतमन्द तक बिना भेदभाव के पहुंचाने के लक्ष्य के साथ कार्य कर रही है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार सभी को जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए पूर्ण सहयोग प्रदान कर रही है। राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के सभी 55.77 लाभार्थियों में से प्रत्येक के खाते में तीन महीने की पेंशन धनराशि के रूप में 1500 रुपये की धनराशि आज अन्तरित की गयी है। इनमें राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना से लाभान्वित हो रहे 04 लाख 56 हजार नये लाभार्थी भी सम्मिलित हैं।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान में पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है। कोरोना कालखण्ड के दौरान प्रत्येक व्यक्ति के जीवन तथा जीविका को बचाना एक चुनौती थी। इससे निपटने के लिए प्रदेश सरकार ने भारत सरकार के सहयोग से पूरी मजबूती और प्रतिबद्धता के साथ उन योजनाओं को लागू किया, जो गरीबों के हित एवं स्वावलम्बन के लिए आवश्यक थी।
 
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के माध्यम से प्रत्येक जरुरतमन्द को निःशुल्क राशन की सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है। साथ ही, प्रदेश सरकार ने भी जून, जुलाई एवं अगस्त के महीने में अपने संसाधनों से जरूरतमन्द परिवारों को निःशुल्क राशन उपलब्ध कराया। राज्य में 42 लाख ग्रामीण एवं शहरी गरीब परिवारों को एक-एक आवास, 02 करोड़ 61 लाख गरीब परिवारों को शौचालय की सुविधा, 01 करोड़ 38 लाख परिवारों को सौभाग्य योजना के तहत मुफ्त बिजली कनेक्शन तथा 01 करोड़ 47 लाख परिवारों को निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन की सुविधा उपलब्ध करायी गयी। राज्य में प्रत्येक गरीब छात्र को छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति धनराशि निरन्तर प्रदान की जा रही है। प्रदेश सरकार द्वारा छात्रवृत्ति में वृद्धि करने का प्रयास भी किया जा रहा है। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के माध्यम से गरीब कन्याओं के विवाह हेतु आर्थिक सहायता भी प्रदान की जा रही है।
 
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में आयुष्मान भारत योजना के तहत स्वास्थ्य बीमा का कवर गरीब परिवारों को उपलब्ध कराया जा रहा है। ऐसे परिवार जो इस योजना से आच्छादित नहीं हैं, उनको मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के माध्यम से आच्छादित करने की कार्यवाही की जा रही है। मुख्यमंत्री जी ने अपील की कि सभी पात्र परिवार आयुष्मान भारत योजना का लाभ अवश्य प्राप्त करें। आयुष्मान कार्ड से किसी भी सरकारी अथवा सूचीबद्ध अस्पताल में 05 लाख रुपये तक का निःशुल्क उपचार प्राप्त किया जा सकता है।
 
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व  में  एवं मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार गरीब वर्ग के कल्याण एवं विकास के लिए संकल्पबद्ध है। राज्य सरकार द्वारा समाज के प्रत्येक वर्ग को विभिन्न योजनाओं का लाभ प्रदान किया जा रहा है। समाज कल्याण विभाग द्वारा सभी प्रमुख योजनाओं को कम्प्यूटरीकृत करते हुए इसके अन्तर्गत दी जाने वाली सहायता राशि को डी0बी0टी0 प्रणाली के माध्यम से सीधे लाभार्थियों के खाते में भेजी जा रही है।
 
कार्यक्रम के अन्त में समाज कल्याण राज्यमंत्री डॉ0 जी0एस0 धर्मेश ने अतिथियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन प्रमुख सचिव समाज कल्याण श्री के0 रवीन्द्र नायक ने किया।

कार्यक्रम के दौरान निदेशक समाज कल्याण द्वारा राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के सम्बन्ध में एक प्रस्तुतीकरण दिया गया। प्रस्तुतीकरण के दौरान उन्होंने बताया कि विगत लगभग 05 वर्षों में राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना मृतक लाभार्थियों के रिप्लेसमेण्ट के अतिरिक्त 19 लाख 24 हजार नवीन लाभार्थियों को इस योजना से लाभान्वित किया गया है। प्रतिवर्ष लगभग 02 लाख नए लाभार्थी मृतक लाभार्थियों से रिप्लेस हुए हैं। इस प्रकार, वर्ष 2017 से अब तक लगभग 29 लाख नवीन लाभार्थियों को राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना से लाभान्वित किया गया है।
 
इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह  अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं एम0एस0एम0ई0 श्री नवनीत सहगल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद, निदेशक सूचना श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
आवारा पशुओं से जान का जोखिम बढ़ जाता है कुलभूषण त्यागी
चित्र
मतदान लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व है एडवोकेट अरविंद गुप्ता
चित्र