गोवा विधानसभा चुनाव से पहले केजरीवाल ने किए सात बड़े ऐलान

 


पणजी, : गोवा में विधानसभा चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने उत्तराखंड की तरह गोवा में भी बेरोजगारी का मुद्दा उठाया. उन्होंने गोवा की सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि यहां बिना सिफारिश या रिश्वत दिए सरकारी नौकरी नहीं मिलती है. यहां सीएम केजरीवाल ने रोजगार से सम्बंधित सात बड़े ऐलान किए.


 1. हर सरकारी नौकरी पर गोवा के आम युवा का हक होगा. आप सिस्टम को पारदर्शी बनाएगी.

2. सूबे के हर घर से एक बेरोजगार युवा को नौकरी देने के लिए बंदोबस्त किया जाएगा.
3. जब तक इस तरह के युवा को रोजगार नहीं मिल पाता है, तब तक उसे तीन हजार रुपए प्रति माह बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा.
4. 80 फीसदी नौकरियां सूबे के युवाओं के लिए आरक्षित रहेंगी. प्राइवेट नौकरियों में भी ऐसी व्यवस्था के लिए कानून लाया जाएगा.
5. कोरोना के कारण गोवा के पर्यटन पर खासा असर पड़ा. ऐसे में टूरिज्म पर निर्भर लोगों का रोजगार जब तक पटरी पर नहीं आता, तब तक उन परिवारों को पांच हजार रुपए प्रतिमाह दिए जाएंगे.
6. माइनिंग पर निर्भर परिवारों को भी उनका काम चालू होने तक पांच हजार रुपए प्रति माह दिए जाएंगे.
7. नौकरियों के सृजन के लिए स्किल यूनिवर्सिटी खोली जाएगी.

गोवा में चुनाव लडऩे की घोषणा के बाद पिछले दो महीने में केजरीवाल का यह दूसरा दौरा था. अपने पिछले दौरे में अरविंद केजरीवाल ने 300 यूनिट बिजली मुफ्त देने का वादा किया था. केजरीवाल ने कहा, युवा मुझसे कहते थे कि अगर किसी को यहां पर सरकारी नौकरी चाहिए, तो उनकी किसी मंत्री से पहचान होनी चाहिए. गोवा में बगैर घूस/सिफारिश के सरकारी नौकरी मिलना असंभव है. हम इस चीज को खत्म करेंगे. गोवा की सरकारी नौकरियों पर यहां के युवा का हक होगा.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
स्वास्थ्य के प्रति हमेशा सजग रहे डॉक्टर नीतिका शुक्ला
चित्र
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के साथ विकसित होने वाले औद्योगिक क्लस्टर के माध्यम से बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे
चित्र
मोदी खुद शहंशाह, मेरे भाई को शहजादा बोलते हैं: गुजरात में प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री पर किया पलटवार
चित्र
कोरोना वायरस: भारत में 1.56 लाख से अधिक की मौत, विश्व में मृतक संख्या 25 लाख के पार
चित्र