देश कौशल से परिपूर्ण हैऔर उनके कौशल को संस्थान द्वारा शुरू किए जाने वाला फोटोग्राफी का कोर्स पहचान दिलाने में अहम भूमिका निभाएगा- चौधरी उदयभान सिंह



हिंदी दैनिक आज का मतदाता लखनऊ। काशी एक उत्सव दिनांक 23 सितंबर 2021 को उत्तर प्रदेश डिजाइन एवं शोध संस्थान लखनऊ एवं इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ फोटोग्राफी एकेडमी नोएडा के संयुक्त तत्वाधान में काशी एक उत्सव का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रुप में माननीय राज्य मंत्री सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन विभाग उत्तर प्रदेश सरकार चौधरी उदयभान सिंह जी संस्थान की माननीय अध्यक्ष श्रीमती क्षिप्रा शुक्ला जी संस्थान के निदेशक प्रोफेसर डी पी सिंह जी व यूपीएसडीएम के मिशन निदेशक श्री कुणाल सिल्कू द्वारा दीप प्रज्वलन करके किया गया 



 संस्थान के अध्यक्ष श्रीमती क्षिप्रा शुक्ला ने मुख्य अतिथि एवं अन्य को पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया अपने स्वागत भाषण में संस्थान के अध्यक्ष ने बताया कि उत्तर प्रदेश डिजाइन एवं शोध संस्थान लखनऊ अपने अन्य कोर्स के साथ-साथ फोटोग्राफी कोर्स को भी शुरू करने जा रहा है उन्होंने किसी उत्पाद को लोकल से ग्लोबल बनाने में फोटोग्राफी के विशेष महत्व को विस्तार से बताया है मुख्य अतिथि माननीय राज्य मंत्री सूक्ष्म एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन विभाग उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने उद्बोधन में भारत की विरासत का विस्तार से वर्णन किया साथ ही कहा कि हमारा देश कौशल से परिपूर्ण है और उनके कौशल को संस्थान द्वारा शुरू किए जाने वाला फोटोग्राफी का कोर्स पहचान दिलाने में अहम भूमिका निभाएगा कार्यक्रम में सामाजिक कार्यकर्ता कपिल मिश्रा प्रख्यात स्तंभकार नवल कांत सिन्हा आईआईपी  नोएडा के निदेशक श्री राजेश गोयल व अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। कार्यक्रम के अंत में संस्थान के निदेशक प्रोफेसर डी पी सिंह ने उपस्थित सभी आगंतुकों का आभार व्यक्त  किया कार्यक्रम का संचालन सुश्री एशा गुप्ता द्वारा किया गया

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
संसद का शीतकालीन सत्र नहीं होगा, सरकार ने जनवरी में बजट सत्र बुलाने का सुझाव दिया
चित्र
मोदी खुद शहंशाह, मेरे भाई को शहजादा बोलते हैं: गुजरात में प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री पर किया पलटवार
चित्र