योगी के अब्बाजान वाले बयान पर NDA में टूट! JDU अध्यक्ष बोले-भारत में ऐसी भडकाऊ बातें नहीं होनी चाहिए

 


हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कुशीनगर में आयोजित एक जनसभा के दौरान दिए गए ‘अब्बाजान’ वाले बयान पर उनकी चौतरफा आलोचना हो रही है।


 

इस मामले में अब जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष ललन सिंह ने भी दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इस पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

उन्होंने कहा है कि किसी भी राजनीतिक दल को संयमित भाषा से कोई भी बात करनी चाहिए। भारत सबका देश है, भले वह हिंदू हो भले मुस्लिम। इस तरह की बातें भारत में नहीं होनी चाहिए।इस दौरान उन्होंने अगले साल होने वाले प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर नहीं बात की है।

जदयू नेता ललन सिंह का कहना है कि उत्तर प्रदेश में अभी भाजपा के साथ चुनाव लड़ने की कोई बात नहीं हुई है।

अगर एनडीए के साथ हमारी बात नहीं बनी। तो हमारी पार्टी अपने बलबूते पर ही मजबूती से उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ेगी। हम इसके लिए अभी से ही तैयारी कर रहे हैं।

गौरतलब है कि जनता दल यूनाइटेड उत्तर प्रदेश के साथ-साथ मणिपुर विधानसभा चुनाव में भी अपनी किस्मत आजमाने की कोशिश कर रही है।

बिहार में इस वक्त भले ही जनता दल यूनाइटेड एनडीए के साथ गठबंधन में है। लेकिन बिहार में भी भाजपा और जदयू के नेताओं के बीच तनातनी का माहौल बना रहता है। दोनों राजनीतिक दलों के नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला चला रहता है।

जनता दल यूनाइटेड ने हाल ही में ऐलान किया था कि वह आने वाले विधानसभा चुनाव के लिए तैयारियों में जुट गए हैं।

अगर किसी भी राजनीतिक दल के साथ उनका गठबंधन नहीं हुआ। तो वो अकेले ही विधानसभा चुनाव लड़ेंगे।आपको बता दें कि साल 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा लिए चुनावी अभियान शुरू हो चुका है। सभी राजनीतिक दलों ने अब सक्रिय होकर चुनावी प्रचार प्रसार शुरू कर दिया है।

इसी कड़ी में भाजपा और समाजवादी पार्टी के बीच जुबानी हमले हर दिन तेज हो रहे हैं।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
संसद का शीतकालीन सत्र नहीं होगा, सरकार ने जनवरी में बजट सत्र बुलाने का सुझाव दिया
चित्र
मोदी खुद शहंशाह, मेरे भाई को शहजादा बोलते हैं: गुजरात में प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री पर किया पलटवार
चित्र