अमेरिका के अखबारों में नहीं छपी PM मोदी के दौरे की खबर, लोगों ने अंजना से कहा- वो गोदी मीडिया नहीं है

 


भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका में तीन दिवसीय दौरे पर वाशिंगटन पहुंचे हुए हैं। जहां पर वह अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन से मुलाकात करेंगे।

इससे पहले आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से मुलाकात की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जो बिडेन के अमेरिका के राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार अमेरिका पहुंचे हैं।

पीएम मोदी के अमेरिका दौरे की चर्चा भारत में भी खूब जोरो जोरो से हो रही है। अमेरिका रवाना होने से पहले पीएम मोदी ने एक बयान में अपनी पूरी यात्रा का ब्यौरा भी दिया था।उन्होंने बताया था कि मैं अमेरिका के राष्ट्रपति के साथ के क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर विचारों का आदान प्रदान करूंगा।



इसके साथ ही मैं अमेरिका की उप राष्ट्रपति कमला हैरिस के साथ मुलाकात को लेकर भी काफी उत्सुक हूँ।

आपको बता दें कि भारत के प्रधानमंत्री के अमेरिका दौरे को कवर करने के लिए आज तक की न्यूज़ एंकर अंजना ओम कश्यप भी अमेरिका पहुंची है।

सोशल मीडिया पर उनकी एक वीडियो काफी वायरल हो रही है। जिसमें वह पीएम मोदी की मीटिंग से पहले वहां के अखबारों में छपी खबरों पर चर्चा करती नजर आ रही है।

इस वीडियो में अंजना ओम कश्यप अमेरिका की अखबारों में पीएम मोदी के दौरे से संबंधित सभी खबरों को तलाशते हुए कह रही है कि अभी तक अखबारों में इससे जुड़ी कोई खबर नहीं छपी है। हो सकता है कि मीटिंग के बाद पीएम मोदी के दौरे को लेकर खबरें छापी जाए।

अंजना ओम कश्यप के इस वीडियो को शेयर करते हुए यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने भी तंजीय अंदाज में प्रतिक्रिया जाहिर की है।

उन्होंने लिखा है कि यह तो गजब है! क्या भारत का लीडिंग न्यूज़ चैनल अमेरिका में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे का कवरेज सोशल मीडिया पर नेताओं के अलावा पत्रकार अंजना ओम कश्यप की इस वीडियो पर पत्रकारों और आम लोगों द्वारा भी तरह तरह की प्रतिक्रियाएं दी जा रही हैं। नहीं होने पर प्रधानमंत्री को ट्रोल कर रहा है?

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
संसद का शीतकालीन सत्र नहीं होगा, सरकार ने जनवरी में बजट सत्र बुलाने का सुझाव दिया
चित्र
मोदी खुद शहंशाह, मेरे भाई को शहजादा बोलते हैं: गुजरात में प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री पर किया पलटवार
चित्र