आशीष मिश्रा आज से 72 घंटे की पुलिस रिमांड पर, अंकित दास का हेल्पर शेखर भी अरेस्ट

 


लखीमपुर खीरी : यूपी के लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में आरोपी आशीष मिश्रा आज से 72 घंटे तक पुलिस रिमांड पर रहेगा जहां उससे पूछताछ की जाएगी. इस दौरान एसआईटी इस मामले से जड़े अहम सवालों के जवाबों की तलाश करेगी. सबसे बड़ा सवाल है कि वारदात के वक्त आशीष मिश्रा कहां था? सोमवार को एक अन्य वीडियो सामने आई है जिसमें आशीष उस जीप में बैठता हुआ नजर आ रहा है जिससे किसानों को कुचला गया था.

 


जानकारी के मुताबिक आशीष के बयानों में काफी विरोधाभास था जिसके चलते बयानों की पुष्टि के लिए पुलिस रिमांड में भेजा गया है. रिमांड के दौरान पुलिस टीम आशीष को क्राइम सीन पर भी लेकर जा सकती है. इस दौरान एविडेंस एक्ट की धारा 27 के तहत रिकवरी कराई जा सकती है. इस दौरान एसआईटी का जोर सीक्वेंस ऑफ क्राइम का पता लगाने पर भी रहेगा. इस दौरान क्राइम सीन का फिर से रीक्रियेशन भी किया जा सकता है. उधर पुलिस सूत्रों के मुताबिक लखीमपुर-खीरी हिंसा मामले में पुलिस ने अंकित दास के सहायक शेखर को भी गिरफ्तार कर लिए है, उसे पुलिस ने क्रीम सीन से हिरासत में लिया था.रिमांड के दौरान आशीष से पुलिस लाइन में पूछताछ की जाएगी. मिल रही जानकारी के मुताबिक आशीष से क्राइम ब्रांच के दफ्तर में पूछताछ की जाएगी. पुलिस लाइन में फिलहाल मीडिया की एंट्री पर भी रोक लगा दी गई है. आशीष से पूछताछ के दौरान उनकी 5 वकीलों की टीम भी उचित दूरी बनाकर मौजूद रहेगी. पूछताछ से पहले आशीष का मेडिकल भी कराया जा सकता है. रिमांड के दौरान आशीष को प्रताडि़त नहीं किया जाएगा और वकीलों की टीम मौजूद रहेगी.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की निगरानी और सक्रियता के बाद तिकुनिया कांड का आरोपी आशीष मिश्र मोनू को दूसरे नोटिस के बाद क्राइम ब्रांच के ऑफिस में पेश होना ही पड़ा था.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
आवारा पशुओं से जान का जोखिम बढ़ जाता है कुलभूषण त्यागी
चित्र
मतदान लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व है एडवोकेट अरविंद गुप्ता
चित्र