सहारनपुर में अख‍िलेश यादव ने कहा- भाजपा को हराने के लिए गठबंधन भी करेंगे, लेकिन अपनी शर्तों पर

 


सहारनपुर में अखिलेश यादव ने कहा- आवश्‍यकता पड़ी तो पार्टी गठबंधन भी करेगी लेकिन गठबंधन अपनी शर्तो पर होगा पार्टी कार्यकर्ताओं का ध्‍यान रखा जाएगा। भाजपा की नीति विभाजनकारी है। जनता अब प्रदेश सरकार को बदलने का मन बना चुकी है।सहारनपुर, हिंदी दैनिक आज का मतदाता। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तीखा हमला बोला। कहा कि धुआं उड़ाकर सरकार चलाने वालों ने प्रदेश में नाम बदलने के अलावा विकास का कोई काम नहीं किया। जिन्होंने गीता पढ़ी हैं उन्हें पता है कि योगी किसे बोलते हैं, जो माया के बीच रहकर माया से दूर रहें। मगर योगी और उनके लोगों का कारनामा लोगों ने लखीमपुर खीरी में देखा, जहां किसानों को गाडिय़ों से कुचला गया। किसान मजदूर विरोधी इस सरकार में कानून को कुचलने का प्रयास किया गया। ये लोग संविधान को भी कुचल देंगे।पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव रविवार को तीतरों में पूर्व मंत्री एवं सांसद स्व.चौधरी यशपाल ङ्क्षसह की 100वीं जयंती के मौके पर आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। कहा कि मौजूदा सरकार में किसान को मवाली व आतंकवादी तक कहा जा रहा है। भाजपा के अपमान के बावजूद किसान पीछे नहीं हटे और दस माह से सड़कों पर डटे हैं। किसान यदि गद्दी पर बैठा सकता है तो उतारना भी जानता है। अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया था मगर सभी चीजों के दाम बढ़ गए। गन्ने का भुगतान नहीं हुआ और धान के सही दाम नहीं मिल रहे हैं। डीजल-पेट्रोल के दाम आसमान पर हैं। कीटनाशक, डीएपी, खाद के दाम बढ़ाए गए। इतना ही नहीं खाद की बोरी में भी चोरी हो गई। सरकार के मंत्री कहते हैं कि सरसों तेल इसलिए महंगा हो गया क्योंकि इसमें हम मिलावट नहीं कर पा रहे हैं। कहा कि केंद्र की नकल कर मुख्यमंत्री एक ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था का वादा करते हैं परंतु नतीजा सिफर है। बिजली के मीटर लग गए और तेज भी भागने लगे। बिल भी बढ़ा दिया। कमरतोड़ महंगाई से बेहाल किसानों को 500 रुपये दिये जाने लगे मगर क्या यह सम्मान की बात है। वास्तव में चुनाव से पहले खाते में पैसा भेजकर सरकार किसानों को धोखा देने का काम कर रही है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
एलआईसी विश्वास और पारिवारिक सुरक्षा ,उज्जवल भविष्य और सम्मान का प्रतीक है प्रशांत वशिष्ठ,
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
कोरोना वायरस: भारत में 1.56 लाख से अधिक की मौत, विश्व में मृतक संख्या 25 लाख के पार
चित्र