सौ करोड़ वैक्सीन डोज हर सवाल का जवाब है: पीएम मोदी

 

नई दिल्ली : कोविड-19 के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान में 100 करोड़ डोज का आंकड़ा छूने के एक दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया. पीएम मोदी ने कहा कि ये 100 करोड़ वैक्सीन डोज हर सवाल का जवाब है. उन्होंने इस उपलब्धि का श्रेय देश की जनता को दिया है. बता दें कि भारत ने ‘टीकाकरण शतक’ की उपलब्धि गुरुवार सुबह हासिल कर ली थी. इस मौके पर देश और दुनिया के कई राजनेताओं ने प्रधानमंत्री को बधाई दी थी. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी देश की जनता को शुभकामनाएं दीं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि दुनिया के देशों के लिए वैक्सीन की खोज करने में महारथ हासिल थी, लेकिन भारत अब तक दुनिया के देशों की बनाई गई वैक्सीन पर निर्भर रहता था. पीएम मोदी ने कहा कि जब बड़ी महामारी आई तो कई सवाल उठने लगे. सवाल उठा कि क्या भारत इतने लोगों को टीका लगा पाएगा. इतनी वैक्सीन कैसे भारत मंगवा पाएगा.

बीमारी भेदभाव नहीं करती, तो वैक्सीन में भी भेदभाव नहीं हो सकता

पीएम ने टीकाकरण अभियान को लेकर कहा कि वैक्सीन में भेदभाव मुमकिन नहीं था. उन्होंने कहा, गरीब-अमीर, गांव-शहर, दूर-सुदूर, देश का एक ही मंत्र रहा कि अगर बीमारी भेदभाव नहीं करती, तो वैक्सीन में भी भेदभाव नहीं हो सकता! ये सुनिश्चित किया गया कि वैक्सीनेशन अभियान पर वीआईपी कल्चर हावी न हो.

बता दें कि 16 जनवरी से शुरू हुए टीकाकरण में सरकारी केंद्रों पर नागरिकों को वैक्सीन मुफ्त में लगाई जा रही थी. इस पर पीएम मोदी ने कहा, भारत ने अपने नागरिकों को 100 करोड़ वैक्सीन डोज लगाई है और वो भी बिना पैसा लिए. 100 करोड़ वैक्सीन डोज का एक प्रभाव ये भी होगा कि अब दुनिया भारत को कोरोना से ज्यादा सुरक्षित मानेगी.

वोकल फॉर लोकल होना ही होगा

देश को दिए संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने वोकल फॉर लोकल की बात पर जोर दिया. उन्होंने कहा, हर छोटी से छोटी चीज, जो मेड इन इंडिया हो, जिसे बनाने में किसी भारतवासी का पसीना बहा हो, उसे खरीदने पर जोर देना चाहिए. और ये सबके प्रयास से ही संभव होगा. भारतीयों द्वारा बनाई चीज खरीदना, वोकल फॉर लोकल होना, ये हमें व्यवहार में लाना ही होगा.

कोरोना काल में कृषि क्षेत्र ने हमारी अर्थव्यवस्था को मजबूती से संभाले रखा. रिकॉर्ड लेवल पर अनाज की खरीद हो रही है. किसानों के बैंक खाते में सीधे पैसे जा रहे हैं. वैक्सीन के बढ़ते कवरेज के साथ हर क्षेत्र में सकारात्मक गतिविधियां तेज हो रही हैं.

जब तक युद्ध चल रहा है, हथियार नहीं डाले जाते

जानकार पहले ही त्यौहारों पर कोरोना को लेकर सावधान रहने की सलाह दे चुके हैं. पीएम मोदी ने भी देशवासियों से सतर्क रहने की अपील की. उन्होंने कहा, कवच कितना ही उत्तम हो, कवच कितना ही आधुनिक हो, कवच से सुरक्षा से पूरी गारंटी हो तो भी जबतक युद्ध चल रहा है, हथियार नहीं डाले जाते. मेरा आग्रह है कि हमें अपने त्योहारों को पूरी सतर्कता के साथ ही मनाना है.

भारत में कॉविन प्लेटफॉर्म की व्यवस्था आकर्षण का केंद्र बनी

पीएम मोदी ने कहा कि आज भारतीय कंपनियों को न केवल रिकॉर्ड निवेश मिल रहा है, बल्कि रोजगार सृजन भी हो रहा है. स्टार्ट-अप में रिकॉर्ड निवेश के साथ-साथ रिकॉर्ड स्टार्टअप यूनिकॉर्न भी विकसित किए जा रहे हैं. हमारे देश ने कॉविन प्लेटफॉर्म की जो व्यवस्था बनाई है, वो भी विश्व में आकर्षण का केंद्र है. भारत में बने कॉविन प्लेटफॉर्म ने न केवल आम लोगों को सहूलियत दी, बल्कि मेडिकल स्टाफ के काम को भी आसान बनाया है.

टिप्पणियाँ