पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम को सम्बोधित कर कहा, ड्रोन टेक्नॉलॉजी में दिलचस्पी ले रहे यंगस्टर्स

 


नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ के 82वें संस्करण के तहत आज राष्ट्र को संबोधित किया. पीएम मोदी अपने इस कार्यक्रम में लोगों से जुड़े महत्वपूर्ण विषयों पर अपने विचार साझा करते हैं. मन की बात कार्यक्रम के 82वें एपिसोड के लिए उन्होंने जनता से भी सुझाव मांगे थे. मन की बात प्रधानमंत्री का मासिक रेडियो संबोधन है, जो हर महीने के आखिरी रविवार को प्रसारित होता है, लेकिन इस बार कार्यक्रम का प्रसारण महीने के दूसरे आखिरी रविवार को किया गया. पीएम मोदी ने आज के कार्यक्रम में कहा हमें ड्रोन टेक्नोलॉजी में अग्रणी देश बनना है. इसके लिए सरकार हर संभव कदम उठा रही है. यंगस्टर्स और स्टार्ट-अप्स की दुनिया भी इसमें दिलचस्पी ले रही है.

प्रधानमंत्री ने स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि हर नागरिक स्वच्छता को अपनी जिम्मेदारी समझे. अभी दीपावली पर हम सब अपनी घर की साफ सफाई में तो जुटने ही वाले हैं लेकिन, इस दौरान हमें ध्यान रखना है कि हमारे घर के साथ हमारा आस-पड़ोस भी साफ रहे.

पीएम मोदी ने अपने सम्बोधन में ‘वोकल फॉर लोकल’ पर जोर दिया. पीएम मोदी ने कहा कि इतने त्योहार एक साथ होते हैं तो उनकी तैयारियां भी काफी पहले से शुरू हो जाती हैं. आप सब भी अभी से खरीदारी का प्लान करने लगे होंगे, लेकिन आपको याद है, खरीदारी मतलब ‘वोकल फॉर लोकल’. आप लोकल खरीदेंगे तो आपका त्योहार भी रोशन होगा और किसी गरीब भाई-बहन, किसी कारीगर, किसी बुनकर के घर में भी रोशनी आएगी. मुझे पूरा भरोसा है जो मुहिम हम सबने मिलकर शुरू की है, इस बार त्योहारों में और भी मजबूत होगी.

 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत, दुनिया के उन पहले देशों में से है, जो ड्रोन की मदद से अपने गांव में जमीन के डिजिटल रिकॉर्ड तैयार कर रहा है. उन्होंने कहा कि हमें ड्रोन टेक्नॉलॉजी में अग्रणी देश बनना है. इसके लिए सरकार हर संभव कदम उठा रही है.

पीएम मोदी बोले आप कल्पना करिए, जब आजादी के आंदोलन से जुड़ी रंगोली बनेगी, लोग अपने द्वार पर, दीवार पर, किसी आजादी के मतवाले का चित्र बनाएंगे, आजादी की किसी घटना को रंगों से दिखाएंगे, तो अमृत महोत्सव का भी रंग और बढ़ जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगले महीने, भारत भगवान बिरसा मुंडा की जयंती मनाएगा. उनके जीवन ने हमें कई चीजें सिखाईं जैसे अपनी संस्कृति पर गर्व होना और पर्यावरण की देखभाल.

पीएम मोदी ने कहा कि हम सभी का दायित्व है कि हम एकता का संदेश देने वाली किसी-ना-किसी गतिविधि से जरुर जुड़ें. सरदार साहब कहते थे कि, हम अपने एकजुट उद्यम से ही देश को नई महान ऊंचाईयों तक पहुंचा सकते हैं. अगर हममें एकता नहीं हुई तो हम खुद को नई-नई विपदाओं में फंसा देंगे. यानी राष्ट्रीय एकता है तो ऊंचाई है, विकास है. हमारी आजादी का आंदोलन तो इसका सबसे बड़ा उदाहरण है. पीएम मोदी ने कहा कि अगले रविवार, 31 अक्तूबर को सरदार पटेल जी की जन्म जयंती है . उन्होंने कहा ‘मन की बात’ के हर श्रोता की तरफ से और मेरी तरफ से लौहपुरुष को नमन करता हूं.

पीएम मोदी ने बागेश्वर की रहने वाली पूनम से बातचीत की. इस दौरान उन्होंने कहा कि उनका सौभाग्य है कि उन्हें बागेश्वर आने का अवसर मिला था वो एक प्रकार से तीर्थ क्षेत्र रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वह अपने देश अपने देश के लोगों की क्षमताओं से भली-भांति परिचित हैं. उन्होंने कहा कि वह जानते हैं कि स्वास्थ्यकर्मी देशवासियों के टीकाकरण में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेंगे.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
राज्यपाल अनंदीबेन पटेल से से प्रशिक्षु IAS अफ़सरों नज की मुलाक़ात !!
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
गोवंश का संरक्षण एवं संवर्द्धन राज्य सरकार की प्राथमिकता - धर्मपाल सिंह
चित्र