वरुण गांधी का योगी सरकार पर हमला, हिंसा को हिंदू बनाम सिख में बदलने की कोशिश

 


 लखीमपुर खीरी : लखीमपुर हिंसा को लेकर भाजपा सांसद वरुण गांधी ने एक बार फिर योगी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को हिंदू बनाम सिख की लड़ाई में बदलने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि ऐसी कोशिश न केवल अनैतिक और झूठी है बल्कि, उन घावों को फिर से कुरेदना खतरनाक है.

जिन्हें ठीक होने में कई पीढ़ी लगी है. उन्होंने कहा कि हमें राष्ट्रीय एकता से ऊपर राजनीतिक का लाभ नहीं रखना चाहिए.

बता दें कि लखीमपुर हिंसा को लेकर वरुण ने एक वीडियो शेयर कर दोषियों को सजा दिलाने की मांग की थी. साथ ही इस मुद्दे पर योगी सरकार को पत्र लिखा था. इससे पहले भी गन्ने के मुद्दे पर उन्होंने सीएम योगी को चिट्ठी लिखी थी. आज फिर से वरुण गांधी ने ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है.

लखीमपुर खीरी में तीन अक्तूबर को हुई हिंसक घटना के बाद से वरुण गांधी लगातार किसानों के समर्थन में ट्वीट कर रहे हैं. वह इस संबंध में योगी सरकार को खत भी लिख चुके हैं और पीडि़त परिवारों के लिए इंसाफ और दोषियों के लिए सजा की मांग कर चुके हैं.

 


वरुण गांधी ने तीन अक्तूबर की घटना के बाद एक वीडियो को पोस्ट कर लिखा है कि, यह वीडियो बिल्कुल साफ है. प्रदर्शनकारियों को हत्या से चुप नहीं कराया जा सकता. मासूम किसानों का जो खून बहा है उसकी जवाबदेही तय होनी ही चाहिए और न्याय मिलना ही चाहिए. किसानों के सामने ऐसा संदेश नहीं जाना चाहिए कि हम क्रूर हैं.

पांच अक्तूबर को भाजपा सांसद वरुण गांधी ने लखीमपुर खीरी हिंसा का एक वीडियो अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी में किसानों को गाडिय़ों से जानबूझकर कुचलने का यह वीडियो किसी की भी आत्मा को झखझोर देगा. उन्होंने पुलिस से इस वीडियो का संज्ञान लेकर गाडिय़ों के मालिकों, इनमें बैठे लोगों और इस प्रकरण में संलिप्त अन्य व्यक्तियों को चिन्हित कर तत्काल गिरफ्तार करने को कहा थाइससे पहले, भाजपा सांसद वरुण गांधी ने गन्ने के मूल्य में 25 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि करने के लिए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद दिया था, लेकिन उन्होंने कहा है कि खाद, बीज, पानी और बिजली की बढ़ी कीमतों के कारण यह मूल्य वृद्धि अपर्याप्त है. उन्होंने इसे बढ़ाकर 400 रुपये प्रति क्विंटल करने की मांग की थी.हाल ही में भारतीय जनता पार्टी ने अपनी घोषित नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी से मेनका गांधी और वरुण गांधी को बाहर कर दिया है. सूत्रों के मुताबिक, लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद वरुण गांधी लगातार योगी और मोदी सरकार पर हमलावर हैं. इसे देखते हुए मां मेनका गांधी और बेटा वरुण गांधी को कार्यकारिणी में जगह नहीं दी गई है. 2022 में पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा ने नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी घोषित की है.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
मतदान लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व है एडवोकेट अरविंद गुप्ता
चित्र
एलआईसी विश्वास और पारिवारिक सुरक्षा ,उज्जवल भविष्य और सम्मान का प्रतीक है प्रशांत वशिष्ठ,
चित्र