बढ़ती मंहगाई को लेकर केंद्र पर राहुल गांधी का तंज, ‘सबका विनाश, महंगाई का विकास’

 


नई दिल्ली,: देश के कई बड़े राज्यों में मंहगाई के चलते देश की जनता परेशान है, ऐसे में पेट्रोल-डीजल के दामों में भारी बढ़ोतरी हुई के चलते कांग्रेस नेता राहुल गांधी मोदी सरकार को निशाने पर लिया है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर महंगाई को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर एक आर्टिकल शेयर कर लिखा ‘सबका विनाश, महंगाई का विकास’. इस आर्टिकल में बताया गया है कि अगर सरकार टैक्स नहीं बढ़ाती तो आज पेट्रोल की कीमत 66 रुपये और डीजल की कीमत 55 रुपये होती. इसी खबर को शेयर करते हुए उन्होंने कहा कि ‘सबका विनाश हो रहा है और देश में केवल महंगाई का ही विकास हो रहा है.’

राहुल लगातार महंगाई को लेकर केंद्र सरकार पर लगातार हमला बोलते नजर आते हैं. इससे उन्होंने दिल्ली स्थित पार्टी हेडक्वार्टर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि मोदी सरकार के लिए जीडीपी बढऩे का मतलब गैस, डीजल और पेट्रोल के दामों में वृद्धि है. उन्होंने कहा था कि मोदी जी कहते रहते हैं कि जीडीपी बढ़ रही है, वित्त मंत्री का कहना है कि जीडीपी ऊपर की ओर प्रोजेक्शन दिखा रही है. तब मुझे समझ में आया कि जीडीपी से इसका क्या मतलब है. इसका मतलब है ‘गैस-डीजल-पेट्रोल’. उन्हें यह भ्रम है.

दरअसल, देश के कई शहरों में पेट्रोल की कीमत 100 रुपये से ऊपर पहुंच चुकी है. देश में रोजाना बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दाम आम आदमी की आमदनी पर असर डाल रहे हैं. वहीं, आपको बता दें कि पेट्रोल-डीजल की इन ऊंची कीमतों में बड़ा हिस्सा सरकार द्वारा उन पर लगाया जाने वाला टैक्स भी है. पिछले कुछ सालों में, केंद्र ने इन पर ऊंची दरों पर टैक्स लगाया है.
इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के दाम में हो रही लगातार बढ़ोतरी को लेकर केद्र सरकार को घेरा था. उन्होंने कहा था कि तेल की आसमान छूती कीमतों में बढ़ रही महंगाई से जनता तंग हो चुकी है और बीजेपी के कुशासन को अब वही खत्म करेगी.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
आवारा पशुओं से जान का जोखिम बढ़ जाता है कुलभूषण त्यागी
चित्र
मतदान लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व है एडवोकेट अरविंद गुप्ता
चित्र