अवंतीपोरा के त्राल मुठभेड़ में ढेर हुआ जैश का टॉप कमांडर शाम सोफी

 


जम्मू : जम्मू कश्मीर में आतंकियों के सफाये में जुटे सुरक्षाबलों को आज एक और कामयाबी हासिल हुई है. अवंतीपोरा के त्राल इलाके में भीषण मुठभेड़ के बाद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का टॉप कमांडर शाम सोफी मारा गया है. आईजीपी कश्मीर ने जैश के इस आतंकी की पहचान को लेकर खुलासा किया है. यह मुठभेड़ त्राल के तिलवानी मोहल्ले में शुरू हुई थी.

जानकारी के मुताबिक पुलिस और सुरक्षा बलों को यह सूचना मिली थी कि इस इलाके में संदिग्ध आतंकी छिपे हैं. इसके बाद स्पेशल ऑपरेशन चलाया गया. आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच भीषण मुठभेड़ शुरू हो गई. हालांकि सुरक्षा बलों को इस मामले में अहम कामयाबी हासिल हुई है. जानकारी के मुताबिक आतंकी रिहायशी इलाके में एक घर में छिपे हुए हैं. सुरक्षाबलों ने उसके आसपास के पूरे इलाके को खाली करा लिया है.

इसके अलावा पुंछ राजौरी इलाके में बगाई के जंगलों में भी बीते दो दिनों से सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन चलाया हुआ है. पुंछ इलाके में ही आतंकियों के साथ मुठभेड़ में जेसीओ समेत पांच जवान शहीद हुए थे. तभी से सुरक्षा बल आतंकियों के सुराग ढूंढने में जुटे हुए हैं.

मंगलवार को शोपियां में अलग-अलग मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने पांच आतंकियों को ढेर किया था. इमाम साहब इलाके के तुलरान गांव में मंगलवार शाम तक चले एनकाउंटर में लश्कर ए तैयबा के तीन आतंकी ढेर हुए थे. इसके अलावा फिरिपोरा इलाके में दो आतंकी मारे गए थे.

 


कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने स्पष्ट कर दिया है कि घाटी में आतंकियों का सफाया कर दिया जाएगा और कार्रवाई जल्द रुकने वाली नहीं है. एक दिन पहले ही कश्मीर के आईजी ने कहा था कि हम आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन जारी रखेंगे. हाल के दिनों में आतंकियों ने नागरिकों को निशाना बनाया और सात लोगों को मार दिया. इसके बाद हमने जवाबी कार्रवाई शुरू की है. हमें श्रीनगर, अनंतनाग समेत कई इलाकों में सफलता हासिल हुई है.

दरअसल आतंकी कश्मीर में 1990 का दौर वापस लाना चाहते हैं. इसी वजह से सिखों, कश्मीरी पंडितों समेत गैर मुस्लिमों को निशाना बनाया जा रहा है ताकि डर पैदा किया जा सके. पुलिस साफ चुकी है कि यह एक साजिश रची जा रही है तो ताकि लोगों के बीच डर और तनाव पैदा किया जाए.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
आवारा पशुओं से जान का जोखिम बढ़ जाता है कुलभूषण त्यागी
चित्र
मतदान लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व है एडवोकेट अरविंद गुप्ता
चित्र