विपक्ष का रवैया नकारात्मक है: सिद्धार्थनाथ सिंह

 


लखनऊ : उत्तर प्रदेश में लखीमपुर में हुई हिंसा को लेकर कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने आज प्रेस कांफ्रेंस कर विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि विपक्ष का जो रवैया है, वो नकारात्मक है. इस माहौल में उनको घर बैठकर राजनीति करने का मौका मिलता है और वहां जाकर फोटो आप करवाएं, यही उनका मकसद है. कोई बाधा ना आए इसलिए सरकार ने कुछ कदम उठाए हैं. माहौल को बिगाडऩे की आपको इजाजत नहीं दी जाएगी.

सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि लखीमपुर में हुई घटना दुर्भाग्यपूर्ण है, नहीं होनी चाहिए थी. यूपी सरकार संवेदनशील है. उच्च अधिकारियों को वहां भेजा गया. तथ्यों की जांच की जा रही है. सच सामने आएगा. जो भी दोषी है, चाहे राजा हो या रंक, उस पर कार्यवाही की जाएगी.

उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि आज कांग्रेस के युवराज को जोश आया कि बहन तो है ही मैं कहां हूं? इसलिए सोचा मैं भी पर्यटन पर निकलूं. जब परमिशन नहीं मिली तो प्रेस काफ्रेंस कर दी. इतिहास गवाह है कि सिखों के साथ नरसंहार हुआ है तो कांग्रेस की सरकार में हुआ है. इमरजेंसी लगाई गई. जब पीएम नरेंद्र मोदी सिखों के लिए काम करते हैं तो आप उसका विरोध करते हैं. जब आपको कुछ पता ही नहीं है तो उछल क्यों रहे हैं? ड्रोन दिखाया जा रहा है.

 


सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस भूल रही है कि पंजाब और राजस्थान में किसानों के साथ क्या हो रहा है? ये लोकतंत्र है और यहां जनता सब देखती है. उन्होंने कहा कि एक-एक परिवार में पोस्टमार्टम रिपोर्ट दी गयी है. सभी ने अंतिम संस्कार किया है. एक परिवार को शक था तो 4 डाक्टरों की टीम लगाकर पोस्टमार्टम किया गया और उसका भी अंतिम संस्कार किया गया. किसान और प्रशासन के बीच समझौता हुआ है. सभी उससे संतुष्ट हैं. शांति का माहौल बना हुआ है लेकिन वीडियो बना-बनाकर दिखाया जा रहा है.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
संसद का शीतकालीन सत्र नहीं होगा, सरकार ने जनवरी में बजट सत्र बुलाने का सुझाव दिया
चित्र
मोदी खुद शहंशाह, मेरे भाई को शहजादा बोलते हैं: गुजरात में प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री पर किया पलटवार
चित्र