बसपा के छह व भाजपा के एक विधायक ने ज्वाइन की सपा

 


लखनऊ : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 से पहले नेताओं के दल-बदल का खेल जारी है. बसपा के 6 बागी विधायकों ने आज सपा की सदस्यता ग्रहण की. इन्हें अखिलेश यादव ने पार्टी की सदस्यता दिलाई है. ये विधायक लंबे समय से अखिलेश के संपर्क में थे. वहीं भाजपा के बागी विधायक सीतापुर के राकेश राठौर के भी सपा में शामिल होने की खबर है.

बसपा व भाजपा से आए विधायकों का अखिलेश यादव ने सपा कार्यालय में स्वागत किया. इस मौके पर अखिलेश यादव ने कहा कि बहुत लोग हैं जो सपा में शामिल होना चाहते हैं. चुनाव आने तक भाजपा ‘भागता परिवार’ ही रह जाएगी. इस चुनाव में भाजपा का सफाया होना तय है. वहीं, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के बारे में अखिलेश ने कहा कि उनका सम्मान रखा जाएगा. वह भी हमारे ही साथ रहेंगे.

ये हैं बसपा के 6 बागी विधायक

बहुजन समाज पार्टी के छह बागी विधायकों ने आज सपा की सदस्यता ग्रहण की. इनमें असलम राइनी (भिनगा-श्रावस्ती), मुजतबा सिद्दीकी (प्रतापपुर-इलाहाबाद), हाकिम लाल बिंद (हांडिया-प्रयागराज), हरगोविंद भार्गव (सिधौली-सीतापुर), असलम अली चौधरी (ढोलाना-हापुड़) और सुषमा पटेल (मुंगरा बादशाहपुर) शामिल हैं. वहीं भाजपा के बागी विधायक सीतापुर के राकेश राठौर ने सपा मुख्यालय पहुंच कर पार्टी की सदस्यता ग्रहण की.

हरेंद्र मलिक और पंकज भी कर चुके हैं साइकिल की सवारी

इससे पहले वहीं शुक्रवार को अखिलेश यादव की मौजूदगी में पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक और विधायक पंकज मलिक ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की थी. बता दें, हरेंद्र मलिक पहले भी समाजवादी पार्टी में रहकर 1998 और 1999 में हुए लोकसभा चुनाव में मुजफ्फरनगर सीट से चुनाव लड़ चुके हैं. हरेंद्र और पंकज ने अभी हाल ही में कांग्रेस से इस्तीफा दिया था. कांग्रेस के इन दोनों के इस्तीफे से करारा झटका लगा था.

 


हरेंद्र मलिक वेस्ट यूपी के दिग्गज नेताओं में शुमार हैं. उनके बेटे पंकज मलिक भी पूर्व कांग्रेस विधायक हैं. पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक प्रियंका गांधी के सलाहकार थे, जबकि पूर्व विधायक पंकज मलिक प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष थे.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
कोरोना वायरस: भारत में 1.56 लाख से अधिक की मौत, विश्व में मृतक संख्या 25 लाख के पार
चित्र
राम नाम सत्य है - प्रेम श्रीवास्तव
चित्र