योगी के खिलाफ धरने पर बैठे राम और सीता! बोले-बिजली कटौती से परेशान हैं, मोमबत्ती जलाकर रामलीला कर रहे हैं

 


देश में कोयले का संकट बढ़ने से कई राज्यों में बिजली का संकट बढ़ता जा रहा है। इस वक्त देश के कई पावर प्लांट में कोयला संकट होने की वजह से बिजली का उत्पादन रुकने की आशंका बन रही है।

इसी बीच मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है। जिसमें मुरादाबाद की रामलीला में राम, सीता और रावण का किरदार निभा रहे कलाकार योगी सरकार के खिलाफ धरने पर बैठ गए हैं।

इसकी वजह यह है कि बिजली की कटौती होने के कारण कलाकार परेशान हो गए। उन्होंने हाथ में मोमबत्ती लेकर मंच पर ही धरना देना शुरू कर दिया।

 


वायरल हो रहे वीडियो में रामलीला में राम का किरदार निभा रहे कलाकार कह रहे है कि हर साल कमेटी को बिजली की सुविधा दी जाती है। लेकिन इस बार बिजली की सुविधा सही से नहीं मिल रही है।जिसकी वजह से रामलीला में दिक्कत आ रही है। लाइट ना होने के कारण हम मोमबत्ती लेकर रामलीला कर रहे हैं।

इस मामले में मुरादाबाद के बिजली और प्रशासनिक कार्यालय के साथ भी बातचीत की गई है। लेकिन कोई हल नहीं निकल पा रहा। रामलीला कमेटी का कहना है कि 4 अक्टूबर से जनरेटर चलाकर रामलीला मंचन हो रहा था।

इस वक्त मुद्दे पर कमेटी के अध्यक्ष यथार्थ किशोर ने बताया है कि हमें बिजली का मीटर नहीं दिया जा रहा है।50 साल पुरानी रामलीला के मंचन में साल 2019 से हमें इस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

हमने पहले भी एडीएम सिटी को पत्र लिखकर अपनी समस्या बताई थी। 4 अक्टूबर से रामलीला शुरू होने के बाद यह आश्वासन दिया जा रहा था कि इस बार सब सुविधाएं मिल जाएँगी। लेकिन हम इस बार भी जरनेटर से अपने खर्च पर रामलीला कर रहे हैं।

इस मामले में कांग्रेस नेता रोहन गुप्ता ने योगी सरकार की चुटकी ली है। उन्होंने इस खबर को शेयर करते हुए लिखा है कि भाजपा है तो यह भी मुमकिन है।सोशल मीडिया पर रामलीला कलाकारों की वायरल हो रही वीडियो पर लोग भी योगी सरकार के खिलाफ कड़ी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
मतदान लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व है एडवोकेट अरविंद गुप्ता
चित्र
एलआईसी विश्वास और पारिवारिक सुरक्षा ,उज्जवल भविष्य और सम्मान का प्रतीक है प्रशांत वशिष्ठ,
चित्र