अखिलेश यादव ने चुनाव आयोग पर लगाये गंभीर आरोप, धरने पर बैठने की दी चेतावनी

 


लखनऊ : सपा प्रमुख अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश की सत्ता में वापसी के लिए सोची-समझी और सधी रणनीति के साथ चुनावी मैदान में कदम बढ़ा रहे हैं. दरअसल, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज चुनाव आयोग के खिलाफ धरने पर बैठने की चेतावनी दे दी है. अखिलेश यादव का कहना है कि जो मतदाता सूची का प्रकाशन हुआ है. उसमें नए जोड़े गए नाम 21 लाख 56 हजार 262 हैं और काटे गए नाम 16 लाख 42 हजार 756 हैं. जो नाम काटे गए और जोड़े गए उन नामों की सूची हर बार चुनाव आयोग जारी करता है.

 


अखिलेश यादव का आरोप है कि इस बार चुनाव आयोग ना जाने किसके दबाव में इस सूची का प्रकाशन नहीं कर रही है. अखिलेश ने कहा कि अगर चुनाव आयोग ने इस सूची को जारी नहीं किया तो हम चुनाव आयोग के खिलाफ भी धरना देंगे.अखिलेश ने कहा कि हर चुनाव में जोड़े गए और काटे गए नाम की मतदाता सूची 2019 तक दी गई है, फिर इस बार क्यों नहीं दी जा रही है. राजनीतिक दलों को यह सूची क्यों नहीं दी जा रही है. क्या कारण है? उन्होंने कहा कि अगर चुनाव आयोग के ख़िलाफ धरना देना पड़ा तो हम चुनाव आयोग के बाहर धरने पर भी बैठ जाएंगे. अखिलेश ने कहा कि चुनाव आयोग में दिल्ली में जितने अधिकारी गए हैं सब यूपी से गए हैं. यूपी में ही चुनाव है. हम उम्मीद करते हैं कि चुनाव आयोग निष्पक्ष काम करेगा.

टिप्पणियाँ