सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे बने ‘चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी’ के अध्यक्ष, सीडीएस जनरल बिपिन रावत के निधन से खाली पद को संभाला

 


नई दिल्ली : भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण किया. ये पद चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के दुखद निधन से खाली हुए पद को भरने के लिए एक स्टॉप-गैप व्यवस्था के रूप में है. सूत्रों ने बताया कि तीनों सेनाओं के प्रमुखों में से जनरल नरवणे के सबसे वरिष्ठ होने के चलते उन्हें कमेटी के अध्यक्ष का पदभार सौंपा गया है.

जानिए कौन है जनरल एम एम नरवणे

जनरल नरवणे ने 31 दिसंबर 2019 को जनरल बिपिन रावत के उत्तराधिकारी के रूप में जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने 28वें सेना प्रमुख का पदभार संभाला था. बिपिन रावत को तब देश का पहला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ नियुक्त किया गया था. उसके पहले तक नरवणे उप-सेनाप्रमुख की जिम्मेदारी निभा रहे थे. सितंबर, 2019 में उप सेना प्रमुख के तौर पर कार्यभार संभालने से पहले जनरल नरवणे ने सेना की पूर्वी कमान का नेतृत्व किया था. जो चीन से लगने वाली लगभग 4000 किलोमीटर लंबी भारतीय सीमा पर नजर रखती है.

कौन होता है सीडीएस

बता दें कि सीडीएस एक चार स्टार सैन्य अधिकारी होता है, जो भारतीय सेनाओं के अधिकारियों में से चुना जाता है. सीडीएस शक्तिशाली चीफ आफ स्टाफ कमेटी (सीओएससी) का चेयरमैन होता है जिसमें तीनों सेना प्रमुख शामिल होते हैं.

आपको बता दें कि जनरल नरवणे को कमेटी के अध्यक्ष के रूप में प्रभार दिया गया है, क्योंकि वह तीन सेवा प्रमुखों में सबसे वरिष्ठ हैं. आईएएफ चीफ एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी और नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने क्रमश: 30 सितंबर और 30 नवंबर को अपने-अपने पद संभाले थे. माना जा रहा है कि इस वजह से ही इन दोनों लोगों को पद के लिए प्राथमिकता नहीं दी गई.

गौरतलब है कि भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत की 8 दिसंबर को तमिलनाडु के कुन्नूर जिले में भारतीय वायुसेना के एमआई-17 वी5 हेलिकॉप्टर दुर्घटना में उनकी पत्नी और 11 सशस्त्र बलों के कर्मियों के साथ मृत्यु हो गई थी. चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी ने मंगलवार को बैठक की और कुन्नूर हेलिकॉप्टर दुर्घटना में मारे गए जनरल रावत और अन्य की मौत पर शोक व्यक्त किया.

वहीं हादसे में जीवित बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह की बुधवार को बेंगलुरू के एक सैन्य अस्पताल में मौत हो गई. हेलिकॉप्टर उस समय दुर्घटनाग्रस्त हो गया जब जनरल रावत वेलिंगटन के डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज में व्याख्यान देने जा रहे थे. इस हादसे के बाद देशभर में शोक लहर दौड़ गई थी.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
ईद उल अजहा की पुरखुलूस मुबारकबाद -अजय गुप्ता महासचिव केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन
चित्र