गेस्ट टीचर्स के साथ सिद्धू का हल्ला बोल, कहा-दिल्ली का एजुकेशन मॉडल कॉन्ट्रैक्ट मॉडल है

 


नई दिल्ली, पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू दिल्ली सरकार के गेस्ट टीचर्स के आंदोलन में शामिल हुए. ये टीचर सीएम अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर स्थायी नौकरी की मांग को लेकर धरना दे रहे हैं. अब इसे नवजोत सिंह सिद्धू का पलटवार माना जा रहा है. कांग्रेस अब दिल्ली के गेस्ट टीचरों के धरने में शामिल होकर अरविंद केजरीवाल को दिल्ली में ही घेरने की कोशिश कर रही है.

नवजोत सिंह सिद्धू ने सीएम अरविंद केजरीवाल को दी चुनौती दी है कि अगर दम है तो उनके सवालों के जवाब दें. सिद्धू ने इस बाबत ट्वीट में कहा- ‘दिल्ली का एजुकेशन मॉडल कॉन्ट्रैक्ट मॉडल है. दिल्ली सरकार में 1031 स्कूल हैं जबकि सिर्फ 196 स्कूलों में प्रिंसिपल हैं. 45प्रतिशत शिक्षक पद खाली हैं और 22,000 गेस्ट टीचर्स द्वारा दैनिक वेतन पर स्कूल चलाए जा रहे हैं, हर 15 दिन पर कॉन्ट्रैक्ट रिन्यू किया जाता है.’वहीं कांग्रेस नेता ने दिल्ली के मुख्यमंत्री से सवाल किया कि उन्होंने दिल्ली में शिक्षकों के लिए कितनी नौकरियां उपलब्ध कराई हैं. दरअसल, केजरीवाल ने कुछ दिन पहले कहा था कि पंजाब में आप के सत्ता में आने पर अनुबंधित शिक्षकों को नियमित कर दिया जाएगा.

Advertisement

Advertisement

इससे पहले चुनावी वादों को लेकर कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा था कि जो लोग शीशे के घरों में रहते हैं उन्हें दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकने चाहिए. सिद्धू ने आम आदमी पार्टी के पंजाब में सत्ता में आने पर 18 वर्ष से अधिक उम्र की प्रत्येक महिला को हर महीने एक हजार रुपए की आर्थिक मदद देने के केजरीवाल के वादे को ‘लॉलीपॉप’ करार देते हुए आप के राष्ट्रीय संयोजक से सवाल किया कि दिल्ली में कितनी महिलाओं को यह राशि प्रदान की जा रही है.

 


गौरतलब है कि हाल ही में पंजाब में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल राज्य सरकार के खिलाफ धरने में शामिल हुए थे. सिद्धू के इस कदम को कांग्रेस का आम आदमी पार्टी को जवाब माना जा रहा है.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
कोरोना वायरस: भारत में 1.56 लाख से अधिक की मौत, विश्व में मृतक संख्या 25 लाख के पार
चित्र
राम नाम सत्य है - प्रेम श्रीवास्तव
चित्र