संदिग्ध परिस्थितियों में खलिहान में लगी आग, लाखों रुपए का धान जलकर राख

 

हलिया (मिर्जापुर) : थाना क्षेत्र के थोथा गांव में शनिवार की सुबह खलिहान में संदिग्ध परिस्थितियों में आग लगने से लाखों रुपए मूल्य के धान की फसल जलकर राख हो गई. थोथा गांव निवासी किसान शिवराम पाल के खलिहान में शनिवार सुबह 7 बजे के करीब संदिग्ध परिस्थितियों में आग लगने से खलिहान में रखा 5 बीघा खेत की उपज का धान मड़ाई करने के बाद ओसाने के लिए रखा था. खलिहान के पास मड़हे में मड़ाई कर रखा 182 बोरी धान भी जलकर राख हो गई.

खलिहान में आग की लपटे उठती देख किसान के द्वारा शोरगुल मचाने पर ग्रामीण हाथों में पानी भरा डिब्बा, बाल्टी इत्यादि लेकर आग बुझाने के लिए खलिहान की तरफ दौड़ पड़े, लेकिन आग के विकराल रूप धारण करने के कारण आग पर काबू नही पाया जा सका इस दौरान खलिहान व मड़हे में रखी धान की फसल जलकर राख हो गई. किसान ने आगजनी की घटना स्थानीय पुलिस व क्षेत्रीय लेखपाल को दे दिया है.

आगजनी की सूचना मिलने के 3 घंटे बाद फायर ब्रिगेड की गाड़ी मौके पर पहुंची तब तक सबकुछ जलकर राख हो गया था. किसान शिवराम पाल ने अपनी खेती के साथ ही उसी गांव निवासी एक अन्य व्यक्ति का 4 बीघा खेत बटाई पर लेकर खेती किया था. शनिवार की सुबह खलिहान में संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई, जिससे खलिहान में ओसाने के लिए रखा 4 बीघा खेत का धान तथा खलिहान से सटे हुए मड़हे मे 182 बोरी धान जलकर राख हो गया.

आग की लपटें देखकर किसान ने शोर मचाया. जब तक आसपास के लोग आग बुझाने के लिए पहुंचे तब तक आग विकराल रूप धारण कर चुकी थी और खलिहान और मड़हे में रखी धान जलकर राख हो गई. पीड़ित किसान ने फायर ब्रिगेड को सूचना दिया.

जिला मुख्यालय से फायर ब्रिगेड की गाड़ी लगभग तीन घंटे बाद मौके पर पहुंची तब तक सारी फसलें जलकर राख हो चुकी थीं जिसके चलते फायर ब्रिगेड की टीम के जिम्मे खलिहान में सुलग रही आग को बुझाने के सिवा कोई काम नहीं बचा था.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
कोरोना वायरस: भारत में 1.56 लाख से अधिक की मौत, विश्व में मृतक संख्या 25 लाख के पार
चित्र
राम नाम सत्य है - प्रेम श्रीवास्तव
चित्र