लैपटॉप के बाद अब आईटी सेक्टर में प्रदेश के युवाओं को नौकरी दिलाएंगे अखिलेश


लखनऊ : सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने 8 दिनों में सातवीं बार प्रेस कांफ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने रोजगार के लिए संकल्प की घोषणा शुरू की. इस दौरान उन्होंने अपना पहला संकल्प आईटी सेक्टर में रोजगार देने का किया. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में सरकार बनने के बाद 22 लाख बच्चों को आईटी सेक्टर में सीधा रोजगार देने का काम करेंगे. साथ ही अखिलेश यादव ने 300 यूनिट फ्री बिजली के वादे को दोहराया.

अखिलेश यादव ने कहा कि नए साल पर 300 यूनिट फ्री बिजली का संकल्प लिया गया, इसके बाद लैपटॉप स्कीम फिर से शुरू करने का ऐलान हुआ. लैपटॉप से परिवार के सभी लोगों को मदद मिली है. लॉकडाउन में समाजवादी सरकार का दिया लैपटॉप लोगों के काम आया. अखिलेश ने कहा कि यूपी में जनता समाजवादी पार्टी की तरफ देख रही है. अभी मैं सिर्फ आईटी सेक्टर के बारे में बात कर रहा हूं. मैनिफेस्टो में हम विस्तार से तमाम बातें करेेंगे.

करहल सीट से विधानसभा चुनाव लड़ना तय

अखिलेश यादव का मैनपुरी की करहल सीट से विधानसभा चुनाव लड़ना तय हो गया है. लखनऊ में सपा की प्रेस कांफ्रेंस में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव ने इसकी आधिकारिक घोषणा की. दो दिनों से अखिलेश के इस सीट से चुनाव लडऩे की बात कही जा रही थी. आज इसकी आधिकारिक घोषणा हो चुकी है.

करहल सीट पर सपा का सात बार कब्जा रहा है

बताते चलें कि अखिलेश इस समय आजमगढ़ से सांसद हैं. इससे पहले उनके अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र की ही किसी विधानसभा सीट से चुनाव लडऩे की अटकलें लगाई जा रही थीं. करहल विधानसभा सीट पर समाजवादी पार्टी का सात बार कब्जा रहा है. 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा की लहर के बावजूद सपा उम्मीदवार सोबरन यादव को एक लाख से ज्यादा वोट मिले थे और उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी प्रेम शाक्य को 38 हजार से ज्यादा मतों से हराया था. करीब 20 साल पहले 2002 में आखिरी बार भाजपा इस सीट से जीती थी. उस वक्त सोबरन यादव भाजपा के उम्मीदवार थे.

भाजपा को पहले ही सारी बातें कैसे पता चल जाती हैं?

अखिलेश ने सवाल उठाया कि भाजपा को पहले से कैसे पता था कि उन्हें चुनाव प्रचार के लिए एलईडी की जरूरत होगी? भाजपा को पहले ही सारी बातें कैसे पता चल जाती हैं? हमारा ये आरोप है. हम शिकायत करेंगे कि पक्षपात हो रहा है. बता दें कि आज ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुनाव प्रचार के लिए एलईडी रथों को रवाना किया है.

अखिलेश ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि नौकरी और रोजगार संकल्प श्रृंखला में 22 लाख युवाओं को रोजगार देने के लिए समाजवादी सरकार काम करेगी. उन्होंने कहा कि छात्रों को लैपटॉप देने की स्कीम क्रांतिकारी थी. एक-एक लैपटॉप की एक कहानी है.

कांग्रेस की उम्मीदवार सपा में शामिल

इसी बीच बरेली के पूर्व सांसद प्रवीण सिंह ऐरन और उनकी पत्नी सुप्रिया ऐरन, संडीला के पूर्व विधायक की पत्नी रीता सिंह सपा में शामिल हो गईं. अखिलेश यादव ने इन नेताओं के पार्टी में शामिल होने का ऐलान करते हुए टिकट देने का भी ऐलान किया. सुप्रिया ऐरन बरेली कैंट से सपा की उम्मीदवार होंगी. सुप्रिया को कांग्रेस से भी टिकट मिल चुका है.

डोर-टू-डोर कैंपेन के लिए सपा तैयार

अखिलेश ने कहा कि उनकी पार्टी भी डोर-टू-डोर कैंपेन के लिए पूरी तरह से तैयार है. टीवी पर सर्वे में भाजपा के आगे होने की बात पर उन्होंने कहा कि अगर वो सर्वे में आगे हैं फिर क्यों भाजपा के विधायक लगातार टूट रहे हैं. उनके विधायकों का विरोध हो रहा है.

अखिलेश यादव ने चुनाव के मद्देनजर जनता के लिए कई घोषणायें की. इसमें उन्होंने 300 यूनिट मुफ्त बिजली, किसान के खेतों की सिचांई के लिए मुफ्त बिजली का वादा किया. साथ ही सपा सरकार बनने पर आईटी सेक्टर में 22 लाख नौजवानों को रोजगार देने का फैसला लिया गया है. इससे पहले अखिलेश ने 12 लाख कर्मचारियों के लिए 2005 से पहले की पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करने का वादा किया था. उससे पहले जरूरमंद गरीबों के लिए 18 हजार रुपए पेंशन की घोषणा की थी.

टिप्पणियाँ