शहादत की आज तीसरी बरसी! पीएम मोदी ने कहा- शहीदों का सर्वोच्च बलिदान हर भारतीय के लिए प्रेरणा


नई दिल्ली: भारत आज कायरतापूर्ण आतंकी हमले की तीसरी बरसी मना रहा है और शहीद हुए वीर जवानों के बलिदान को याद करता है. आज देश की जनता और नेता शहीदों को नमन कर रहे हैं. इस मौके पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि दी. पीएम मोदी ने कहा कि वो 2019 में पुलवामा में शहीद हुए सभी जवानों की उत्कृष्ट सेवा को याद करते हैं, उनकी बहादुरी और सर्वोच्च बलिदान प्रत्येक भारतीय को एक मजबूत और समृद्ध देश की दिशा में काम करने के लिए प्रेरित करता है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दी श्रद्धांजलि

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी पुलवामा में 2019 में मारे गए सीआरपीएफ के बहादुर जवानों को श्रद्धांजलि दी. उन्होंने कहा कि, उनके बलिदान को देश कभी नहीं भूलेगा. बता दें, आज ही के दिन जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों की गाड़ी से विस्फोटकों से लदी कार ने टक्कर मार दी थी. इस हमले में देश के 40 वीर जवान शहीद हो गए थे.

भारतीय सेना ने भी शहीदों को अपनी श्रद्धांजलि दी है. भारतीय सेना अतिरिक्त महानिदेशालय जन सूचना विभाग की ओर से किए गए ट्वीट में कहा गया ‘सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवने और भारतीय सेना के सभी रैंक के अधिकारी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के बहादुर जवानों को श्रद्धांजलि देते हैं, जिन्होंने 14 फरवरी 2019 को पुलवामा आतंकी हमले के दौरान अपने प्राणों की आहुति दे दी.

सीएम योगी ने भी दी श्रद्धांजलि

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा, ‘पुलवामा आतंकी हमले में बलिदान हुए मां भारती के अमर वीर सपूतों को शत-शत नमन एवं विनम्र श्रद्धांजलि! आप सबका बलिदान समाज पर ऋण है. आप सभी का त्याग आतंकवाद के विरुद्ध हम सभी को एकजुट करता है. जय हिंद!

कांग्रेस नेता ने कहा-शहीद रस्म अदायगी से कहीं ज्यादा सम्मान के पात्र हैं

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने लिखा, वहीं, पुलवामा के शहीद रस्म अदायगी से कहीं ज्यादा सम्मान के पात्र हैं. इतनी बड़ी त्रासदी और घोर त्रुटियों के पीछे कौन जिम्मेदार था. इस तरह की घटना दोबारा न घटे, इसके लिए हम क्या कर रहे हैं यही सुनिश्चित करना उनके लिए हमारी सबसे बड़ी श्रद्धांजलि होगी.

जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने रची थी साजिश

दरअसल, 14 फरवरी 2019 को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग से 78 बसों में सवार होकर सीआरपीएफ के करीब 2500 जवानों का काफिला गुजर रहा था. जब काफिला पुलवामा पहुंचा तो सड़क की दूसरी तरफ से आ रही एक कार ने काफिले में चल रहे वाहन पर टक्कर मार दी. विस्फोटक से लदे कार की टक्कर के बाद जोरदार धमाका हुआ जिसमें देश के 40 जवान शहीद हो गये.

जवानों पर ये हमला जैश ए मुहम्मद की ओर से किया गया था. जैश काफिले के सभी 25 सौ जवानों को निशाना बनाना चाहता था. आतंकी संगठन ने सीआरपीएफ के 78 वाहनों पर सवार 2500 से अधिक जवानों के काफिले पर दोपहर करीब तीन बजकर 15 मिनट पर हमला किया था.

बता दें, हमले के लिए जैश-ए-मोहम्मद करीब ने 100 किलोग्राम विस्फोटकों से लदे वाहन का इस्तेमाल किया था. विस्फोट इतना शक्तिशाली था कि कई किलोमीटर दूर तक इसकी आवाज सुनी गई.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
ईद उल अजहा की पुरखुलूस मुबारकबाद -अजय गुप्ता महासचिव केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन
चित्र