रविदास जयंती के अवसर पर पीएम मोदी ने महिलाओं के साथ बैठकर झांझ बजाई


नई दिल्ली: संत रविदास की 645वीं जयंती के मौके पर पीएम मोदी दिल्ली के करोलबाग में रविदास विश्राम धाम पहुंचे. यहां उन्होंने पहले संत रविदास के दर्शन किए. बाद में भजन गा रहे श्रद्धालुओं के बीच बैठ गए. पीएम मोदी ने कीर्तन के दौरान झांझ बजाई. रविदास जयंती हर साल माघ पूर्णिमा के दिन मनाई जाती है.

उत्तर प्रदेश में भी कई बड़े नेता रविदास जयंती के मौके पर उनकी जन्मस्थली पहुंच रहे हैं. पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी बुधवार को वाराणसी के सीरगोवर्धनपुर स्थित संत रविदास महाराज की जन्मस्थली पर पहुंच रहे हैं. उन्होंने संत रविदास महाराज के मंदिर में मत्था टेका. मुख्यमंत्री योगी भी सुबह 10 बजे रविदास मंदिर पहुंचे.

चुनाव से पहले दलित समुदाय के वोटर्स को लुभाने के लिए सभी दलों के प्रमुख नेता रविदास जयंती पर रविदास आश्रम पहुंच रहे हैं. पंजाब में संत रविदास के अनुयायी बड़ी संख्या में हैं. 16 फरवरी को रविदास जयंती के मौके पर पंजाब से लोग वाराणसी जाते हैं. यहीं के सीरगोवर्धन गांव में संत रविदास का जन्म हुआ था. उनकी जयंती पर हर साल समारोह होता है.

पंजाब में चुनाव पहले 14 फरवरी को होने थे, लेकिन रविदास जयंती पर लोग वाराणसी चले जाते हैं, इसलिए लोग वोट डालने नहीं आते, जिसके चलते चुनाव की तारीख बढ़ा दी गई. अब यहां 20 फरवरी को वोटिंग होगी.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
ईद उल अजहा की पुरखुलूस मुबारकबाद -अजय गुप्ता महासचिव केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन
चित्र