यूपी में सपा की जीत और भाजपा का खदेड़ा होबे, वाराणसी में बोलीं ममता बनर्जी

वाराणसी: पश्चिम बंगाल की सीएम और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण में सपा प्रमुख अखिलेश यादव के पक्ष में चुनाव प्रचार किया. रिंग रोड किनारे ऐढ़े गांव में आज सपा गठबंधन की रैली में अखिलेश यादव, ममता बनर्जी समेत कई नेताओं ने हुंकार भरी.

ममता बनर्जी ने उन्होंने मंच से सपा की जीत और भाजपा को खदेडऩे का नारा लगाया. उन्होंने कहा कि यूपी में खेला होबे, सपा की जीत और भाजपा का खदेड़ा होबे. आगे उन्होंने कहा कि जब मैं बनारस एयरपोर्ट से घाट जा रही थी तो भाजपा के गुंडों ने मेरी गाड़ी रोकी. तब मुझे यह अहसास हुआ कि भाजपा यूपी में कितनी हताश और निराश है. पश्चिम बंगाल में भाजपा हारी है, यूपी में भी भाजपा को हराना है.

वे नाम से योगी हैं, काम से भोगी हैं

उन्होंने कहा कि कोरोना में उत्तर प्रदेश में गंगा में डेड बॉडी को बहा दिया गया था, लेकिन पश्चिम बंगाल में हमने उसका अंतिम संस्कार किया. यदि आप वोट नहीं देंगे, तो फिर योगी राज हो जाएगा. फिर गुंडा राज हो जाएगा. ममता बनर्जी ने कहा कि वे केवल नाम के योगी हैं, लेकिन काम से भोगी हैं. वे गांव में जाकर बोलते हैं. ममता बनर्जी ने कहा कि महिलाएं किसी पर भरोसा नहीं करें. अखिलेश को वोट दें. क्योंकि बीजेपी ने किसी के लिए कुछ नहीं किया. इसलिए उन्हें वोट नहीं दें.

2024 में नहीं रहेगी मोदी की सरकार

ममता बनर्जी ने कहा कि हिंदुस्तान सभी समय शांति चाहती है. मैं भी शांति चाहती हूं. मैं किसी देश के खिलाफ नहीं हूं. मैं बीजेपी के खिलाफ हूं. जुमला पार्टी है. बीजेपी जुमला पार्टी है. केवल झूठी बात बोलती है. वे बात-बात में झूठा बात करते हैं. उनके पास सूचना है कि अखिलेश यादव और उनका गठबंधन जीत रहा है. उन्होंने लोगों से आह्वान करते हुए कहा कि योगी सरकार को बदल दो. बीजेपी सरकार को पलट दो. अगर आप अखिलेश यादव को जीता देंगे, तो 2024 में मोदी की सरकार नहीं रहेगी. उन्होंने कहा कि चुनाव के समझ झूठा बोलते हैं और फेक वीडियो बनाते हैं.

अब बिना हराए बनारस से नहीं जाऊंगी

ममता बनर्जी ने कहा, हार के डर से यह सब हो रहा है. अब बिना हराए यहां से नहीं जाऊंगी. मैं कल बनारस के घाट में गई थी. मुझे बहुत अच्छा लगा. मैं शिव रात्रि करती हूं. महादेव सभी को सुख और शांत रखे. बनारस में जब मैं घाट पर जा रही थी, तो रास्ते में मैंने देखा कि बीजेपी के कार्यकर्ता, जिनके दिमाग में कुछ नहीं है, फोड़ना-तोड़ना छोड़कर और कुछ नहीं है. मेरी गाड़ी रोक दी. मेरी गाड़ी में डंडा मारा.

मेरी गाड़ी में धक्का मेरा. मेरे को वापस जाने के लिए कहा. मैं मीटिंग में आ रही थी और मुझे वापस जाने कहा, मैं डरपोक नहीं हूं. मैं लड़ाकू हूं. सीपीएम ने बहुत बार मारा, लेकिन मैं कभी नहीं झुकी. ये लोग जब मुझे गाली दे रहे थे. मैं गाड़ी से उतर कर खड़ी रही. मुझे देखना था कि उनका कितना साहस है, लेकिन वे डरपोक है. वे डरते हैं. वे लोग मुझे गाली दिए, लेकिन मैंने धन्यवाद दिया.

टिप्पणियाँ