जलशक्ति मंत्री ने बीकेटी और सिधौली के 40 हजार लोगों को दी शुद्ध पेयजल की ससौगा
हिंदी दैनिक आज का मतदाता लखनऊ बक्शी का तालाब स्थित मानपुर लाला गांव में मंगलवार सुबह जब लोग नींद से जागे तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। उनके घर में जल जीवन मिशन की हर घर नल योजना से लगाई गई टोंटियों से शुद्ध पेयजल मिलने लगा। कुछ ऐसा ही माहौल सीतापुर में सिधौली के गांव का भी था। पीने के लिए शुद्ध पानी का इंतजार कर रहे लोगों का आनन्द देखते ही बना। इतने कम समय में शुद्ध पीने का पानी मिल जाने पर उनको यकीन ही नहीं हो रहा था। जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने मंगलवार सुबह राजधानी में बक्शी का तालाब स्थित मानपुर लाला गांव में  30 लघु पाइप पेयजल योजनाओं का लोकार्पण किया। इनमें 12 योजनाएं बक्शी का तालाब के गांवों के लिए और 18 योजनाएं सीतापुर स्थित सिधौली के गांव के लिए हैं।

आगा खान फाउंडेशन की ओर से मानपुर लाला ग्राम में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने बक्शी का तालाब और सिधौली के 40 हजार लोगों को शुद्ध पेयजल की सौगात दी। इन योजनाओं से 3500 घरों में हर घर नल योजना के तहत पानी कनेक्शन दिये गये हैं। काफी समय से गांव के लोग शुद्ध पेयजल मिलने का इंतजार कर रहे थे। जलशक्ति मंत्री ने योजनाओं के लोकार्पण के बाद परियोजना स्थल पर चल रही वाटर टेस्टिंग की व्यवस्था और भूजल संजोने के संयंत्रों को भी देखा और उनके कार्यों की जानकारी ली। इस अवसर पर बक्शी का तालाब स्थित 15 गांव के प्रधान भी मौजूद रहे। जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने परियोजना स्थल पर मौजूद लोगों से कहा कि जल जीवन मिशन के तहत घर-घर पाइप से पानी पहुंचने की वजह से माताओं-बहनों का जीवन आसान हो रहा है। इसका एक बड़ा लाभ गरीब परिवारों के स्वास्थ्य को भी हुआ है। इससे गंदे पानी से होने वाली अनेक बीमारियों में भी कमी आ रही है80 साल की बिट्टू देवी को जलशक्ति मंत्री ने अपने हाथ से पिलाया शुद्ध पानी

जलशक्ति मंत्री ने मानपुर लाला गांव में परियोजनाओं का लोकार्पण करने के बाद गांव में स्थित एक घर में पहुंचे। वहां उन्होंने परिवारीजनों से पानी का ग्लास मांगा। योजना के तहत लगाई टोंटी से खुद ग्लास में पानी भरा और घर की बुजुर्ग महिला बिट्टू देवी(80 साल) को शुद्ध पानी अपने हाथों से पिलाया। नन्ही रिंकी को भी अपने हाथ से पानी पीने के लिए दिया। बाद में जल शक्ति मंत्री ने खुद भी उसी टोंटी से शुद्ध पानी को पीकर उसकी गुणवत्ता का जायजा लिया।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
संसद का शीतकालीन सत्र नहीं होगा, सरकार ने जनवरी में बजट सत्र बुलाने का सुझाव दिया
चित्र
मोदी खुद शहंशाह, मेरे भाई को शहजादा बोलते हैं: गुजरात में प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री पर किया पलटवार
चित्र