प्रधानमंत्री के सलाहकार टीवी चैनलों के मालिकों और संपादकों को धमकाते हैं: केजरीवाल

 


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया कि गुजरात विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उनकी पार्टी के बढ़ते प्रभाव से भाजपा इतनी बौखला गई है कि प्रधानमंत्री के सलाहकार हिरेन जोशी ने कई टीवी चैनल मालिकों, संपादकों को गंभीर नतीजे भुगतने की चेतावनी देते हुए राज्य में ‘आप’ को कवरेज न देने को कहा है.नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर तीखा प्रहार करते हुए आरोप लगाया कि वे भ्रष्टाचार से लड़ने के नाम पर आम आदमी पार्टी (आप) को कुचलने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि उन्हें गुजरात चुनाव में हार का डर है.

‘आप’ के निर्वाचित प्रतिनिधियों के पहले राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने यह भी आरोप लगाया कि भाजपा गुजरात विधानसभा चुनाव के मद्देनजर ‘आप’ के बढ़ते प्रभाव से इस कदर बौखला गई है कि ‘प्रधानमंत्री के सलाहकार हिरेन जोशी ने कई टीवी चैनलों के मालिकों तथा उनके संपादकों को गंभीर नतीजे भुगतने की चेतावनी देते हुए गुजरात में ‘आप’ को कवरेज न देने को कहा है.वे आगे कहते हैं, ‘फिर फोन कर-करके धमकियां देते हैं. मैं आज यहां से हिरेन जोशी जी को एक ही चीज कहना चाहता हूं कि अगर किसी ने आपके उन्हें भेजे जा रहे मैसेज के स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर डाल दिए, तो आप और प्रधानमंत्री जी शक्ल दिखाने लायक नहीं बचेंगे इस देश के अंदर. और ये जो आप धमकियां देते हो न, कइयों ने रिकॉर्डिंग कर रखी है आपकी, किसी दिन वो भी सोशल मीडिया पर डाल दी तब भी शक्ल दिखाने लायक नहीं बचोगे. बंद करो ये गंदगी! बंद करो ऐसे मीडिया को धमकाना!’

केजरीवाल के आरोप पर प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) या जोशी की ओर से तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली.

उन्होंने दावा किया कि ऐसी धमकियों  के कारण गुजरात में समाचार चैनल उपमुख्यमंत्री सिसोदिया के खिलाफ कथित भ्रष्टाचार के आरोपों पर टीवी बहस में भाग लेने के लिए उनकी पार्टी से किसी नेता को नहीं बुलाते हैं.

केजरीवाल ने कहा कि मुख्यधारा के मीडिया को ‘पार्टी को कोई कवरेज देने के खिलाफ धमकी’ दिए जाने के बावजूद पूरे गुजरात में ‘आप’ की चर्चा हो रही है क्योंकि सोशल मीडिया के जरिये लोगों तक सूचनाएं पहुंच रही हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘आम आदमी पार्टी महज 10 साल पुरानी पार्टी है. यह शक्तिशाली ताकतों से लड़ रही है. यह पार्टी भ्रष्टाचार और महंगाई जैसे कई राक्षसों से उसी तरह लड़ रही है, जिस तरह कान्हा (कृष्ण) ने कई राक्षसों को मारा था.’’

केजरीवाल ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, जेल में बंद मंत्री सत्येंद्र जैन और विधायक अमानतुल्लाह खान का बचाव किया, जो भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रहे हैं.

उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई), प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और अन्य एजेंसियों को उनके नेताओं को झूठे मामलों में फंसाने के लिए रखा है.

उन्होंने आरोप लगाया, ‘यह ‘आप’ को कुचलने की साजिश है, भ्रष्टाचार के खिलाफ कोई लड़ाई नहीं है. वे सिर्फ ‘आप’ को रोकना चाहते हैं.’

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ने ‘ऑपरेशन लोटस’ के तहत अब तक अन्य दलों की सरकारों को गिराने के लिए पूरे देश में 285 विधायकों को ‘खरीदा’ और इस पर ‘7,000-8,000 करोड़ रुपये खर्च किए.’

केजरीवाल ने प्रधानमंत्री पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए आरोप लगाया, ‘आप भ्रष्टाचार कर रहे हैं, लूटे हुए पैसों से विधायकों को खुलेआम खरीद रहे हैं. फिर भी आपमें लालकिले की प्राचीर से यह कहने का दुस्साहस है कि आप भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहे हैं.’

टिप्पणियाँ