एच.- आर- आई- टी- ग्रुप के एच.- आर- इंस्टिट्यूट ऑफ लॉ मे संविधान दिवस का आयोजन किया गया

 


आज एच - आर- आई- टी-  ग्रुप ऑफ इंस्टीटयून्स, के तत्वाधान में , एच - आर-  इंस्टिट्यूट ऑफ लॉ  द्वारा संविधान विधि दिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का संस्थान के वाइस चेयरमैन श्री अन्जुल अग्रवाल एवं डायरेक्टर जर्नल डा० वी० के० जैन  एवं  ग्रुप डायरेक्टर डा० श्री एन० के० शर्मा एवं निदेशक डा० श्री निर्दोष अग्रवाल और विभागाध्यक्ष श्री धर्मेन्द्र कुमार द्वारा सरस्वती माता के सम्मुख द्धीप प्रज्जवलित करके किया गया ।

 


कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व वाईस चांसलर सिक्किम प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी डॉ डी० डी० कौशिक एवं वरिष्ठ अधिवक्ता श्री अमित जैन जी के द्वारा इस अवसर पर भारतीय संविधान दिवस क्यों मनाया जाता है। एवं संविधान एक सम्प्रभु दस्तावेज है इसके सम्बन्ध में विधि के छात्रों को संविधान में दिये गये विधिक अधिकारी एवं मौलिक अधिकारों एवं दायित्वों के बारे में अवगत कराया गया ।


संस्थान के वाईस चैयरमैन श्री अन्जुल जी ने विधि के छात्रों का उत्साहवर्धन किया एवं छात्रों को उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना का आशीर्वाद दिया एवं ग्रुप डायरेक्टर एव निदेशक सर ने भी इस अवसर पर विधि के छात्रों को एक सफल अधिवक्ता बनने के लिए प्रेरित किया ।

मुख्य अतिथि ने विधि के छात्रों के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुये कार्यक्रम का समापन किया गया।

अन्त में विधि विभागयक्ष ने सभी का आभार व्यक्त किया इस मोके पर संस्थान के सभी अधयापकगण एकता झा , सोनिका शर्मा , हेमलता दास, राहुल कुमार, कामिनी शर्मा एवं सुधीर आदि उपस्थित रहे तथा संस्थान के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी श्री अतुल भूषण जी का मुख्य योगदान रहा 

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
राज्यपाल अनंदीबेन पटेल से से प्रशिक्षु IAS अफ़सरों नज की मुलाक़ात !!
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
गोवंश का संरक्षण एवं संवर्द्धन राज्य सरकार की प्राथमिकता - धर्मपाल सिंह
चित्र