डी०पी०एस० एच०आर० आई०टी० कैंपस में आयोजित हुआ वार्षिक उत्सव




डी० पी० एस० एच० आर० आई० टी० कैंपस में वार्षिकोत्सव समारोह का आयोजन किया गया। समारोह का शुभारंभ स्वागत  गीत एवं सरस्वती वंदना के साथ मुख्य अतिथि माननीय उद्योग मंत्री श्री महेंद्र नाथ पांडे जी, आदरणीय चेयरमैन सर श्री अनिल अग्रवाल जी,  श्रीमती दीपांजलि अग्रवाल जी ,उप चेयरमैन श्री अंजुल अग्रवाल जी, डायरेक्टर मैम श्रीमती वैशाली अग्रवाल जी, आदरणीया प्रधानाचार्या महोदया श्रीमती नंदिनी शेखर जी द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया एवं पुष्प गुच्छ एवं शाल देकर अतिथियों का सम्मान किया गया। कार्यक्रम में स्वतंत्र प्रभार राज्य मंत्री श्री नरेंद्र कश्यप जी, मेयर श्रीमती आशा शर्मा, धर्मेश तोमर ,नंदकिशोर गुर्जर, कृष्ण बीर सिंह सिरोही आदि कई गणमान्य अतिथि भी उपस्थित थे।

कार्यक्रम के अंतर्गत विद्यालय के वार्षिक पुस्तिका "ड्रीम वीवर" का विमोचन  माननीय उद्योग मंत्री श्री महेंद्र नाथ पांडे जी एवं राज्यसभा सदस्य एवं विद्यालय के चेयरमैन सर श्री अनिल अग्रवाल जी , उपचेयरमैन श्री अंजुल अग्रवाल जी, डायरेक्टर मैम श्रीमती वैशाली अग्रवाल जी एवं प्रधानाचार्या महोदया श्रीमती नंदिनी शेखर जी एवं अन्य गणमान्य अतिथियों  द्वारा किया गया। साथ ही उनके द्वारा विद्यालय के योग्य छात्रों को पुरस्कृत भी किया गया।

"अभ्युत्थानम- शिक्षा का सफरनामा " के अंतर्गत शिक्षा के वैदिक काल से लेकर आधुनिक काल एवं एन. ई.पी.  तक के सफर का सुंदर मंचन नृत्य नाटिका एवं गीतों के माध्यम से किया गया । 

वेदों के सृजन, ऋषि मुनियों के ज्ञान , भागीरथ का गंगा को पृथ्वी पर लाना, बुद्ध का मानव प्रेम, चाणक्य की शिक्षाएं, मुगल काल में शिक्षा का सफर, ब्रिटिश काल में शिक्षा की स्थिति एवं आधुनिक काल से होते हुए एन. ई. पी.  तक के सफर को bबड़ी सुंदरता से प्रस्तुत किया गया। नन्हे- नन्हे बच्चों द्वारा पढ़ाई लिखाई को प्रोत्साहन देते हुए गीतों ने कार्यक्रम की सुंदरता और बढ़ा दी।

कार्यक्रम के अंत में मुख्य अतिथि श्री महेंद्र नाथ पांडे जी ने  छात्रों की सराहना करते हुए कहा  कि आगे आने वाली पीढ़ी भारत को विश्व गुरु के पथ पर  लेकर जाएगी। चेयरमैन सर श्री अनिल अग्रवाल जी द्वारा छात्रों का उत्साहवर्धन किया गया । उन्होंने अभिभावकों को छात्रों को दिए गए कार्यों में मदद करने एवं उनकी शिक्षा में योगदान की भूरी- भूरी प्रशंसा की।

आदरणीया प्रधानाचार्या महोदया ने भी माननीय  मुख्य अतिथि , आदरणीय अतिथि गण, सम्मानीय अभिभावकों का आभार व्यक्त किया एवं छात्रों को आशीर्वाद प्रदान किया।

कार्यक्रम के अंत में सम्मानीय अतिथियों को धन्यवाद के साथ स्मृति चिन्ह भेंट किए गए।

टिप्पणियाँ