स्किल इंडिया मिशन के द्वारा देश को युवाओं को एक नई उड़ान मिली – मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

 



लखनऊ, 5 मार्च 2023: कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय (एमएसडीई) के तत्वाधान में राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) के सहयोग से उत्तर प्रदेश में लखनऊ के “कॉल्विन तालुकदार कॉलेज” में दो दिवसीय कौशल महोत्सव का आयोजन 5 मार्च को सफलतापूर्वक सम्पन्न हो गया। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की क्षेत्रीय स्तर पर युवाओं के लिए रोजगार बढ़ाने की प्रतिबद्धता के अनुरूप देश भर में कौशल महोत्सव आयोजित किए जा रहे हैं और इसी क्रम में देश के रक्षा मंत्री माननीय श्री राजनाथ सिंह की प्रेरणा से इस बार लखनऊ में कौशल महोत्सव का आयोजन किया गया।

लखनऊ कौशल महोत्सव के दूसरे दिन उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ की गरिमामयी उपस्थिति रही। कौशल महोत्सव के दूसरे दिन उत्तर प्रदेश के श्रम एवं रोजगार मंत्री श्री अनिल राजभर, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा और भारतीय जनता पार्टी के नेता श्री नीरज सिंह भी मुख्य रूप से शामिल हुए। एनएसडीसी के सीईओ एनएसडीसी इंटरनेशनल के एमडी श्री वेद मणि तिवारी भी इस कार्यक्रम में उपस्थित रहे।
कौशल महोत्सव के समापन अवसर पर उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, “माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने स्किल इंडिया मिशन के माध्यम से देश के युवाओं को एक नई उड़ान दी है। उनका यह प्रयास अत्यन्त सार्थक है। भारत आज विश्व का सबसे युवा देश है। युवाओं की सबसे ज्यादा संख्या उत्तर प्रदेश में है। कौशल विकास मंत्रालय ने आज करोडों युवाओं की भावनाओं को एक नई पहचान दी है और आज युवाओं को नए अवसर प्रदान किए जा रहे हैं”। उन्होंने यहा भी कहा कि “तेजी से बदलती इस दुनिया के साथ हमारे युवा नई सोच के साथ आगे बढ़ रहे हैं। हम उत्तर प्रदेश के स्केल को स्किल डेवलपमेंट के साथ जोड़ रहे हैं। आत्मनिर्भर विजन को पूरा करने में कौशल महोत्सव की महत्वपूर्ण भूमिका होगी”।
उल्लेखनीय है कि इस दो दिवसीय भव्य लखनऊ कौशल महोत्सव का आयोजन देश के रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह की प्रेरणा से हुआ है। इस विशाल कौशल महोत्सव में ऑटोमोटिव, लॉजिस्टिक्स, प्रोडक्शन, इलेक्ट्रॉनिक्स, अपैरल और टूरिज्म जैसे 20 से अधिक सेक्टर्स की भागीदारी हुई है। इन कंपनियों ने लगभग 5284 जॉब  ऑफर दिए गए हैं”।
इस कौशल महोत्सव में L&T कंस्ट्रक्शन, अपोलो होम केयर, जेबीएम, एचडीबी फाइनेंशियल, एचडीएफसी लाइफ इन्श्योरेन्स,  वेलस्पन, बारबेक्यू नेशन, एसबीआई जैसी 112 बड़ी कम्पनियां ने भाग लिया। कौशल महोत्सव के दूसरे दिन भी हजारों की संख्या में उम्मीदवार रोजगार पाने के लिए पहुँचे। इन्टरव्यू प्रक्रिया के दौरान, प्रत्येक उम्मीदवार को कंपनियों के साथ बातचीत के लिए रजिस्ट्रेशन स्लिप दी गईं और चयन के बाद उम्मीदवारों को इन कॉर्पोरेट्स द्वारा ऑफर लेटर दिए गए।
मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ नें प्रतीक स्वरूप 11 अभ्यर्थियों को स्वयं ऑफर लेटर देकर उनका अभिनन्दन किया। ये अभ्यर्थी हैं ज्योति सिंह, (दिव्यांग) काउंसलर सौभाग्य फाउंडेशन, कंचन देवी वेयरहाउस एक्जीक्यूटीव (फ्लिपकार्ट), विमलेश कुमार साईट सर्वेयर (L&T कंस्ट्रक्शन), प्रतीक कुमार ट्रेनी शेफ (बारबेक्यू नेशन), मुकेश टेक्सटाइल प्रोडक्शन – शॉपफ्लोर असिस्टेंट (वेलस्पन), नेहा पाल, टेलीकॉलर (एसबीआई), आदर्श श्रीवास्तव, (एमेजॉन), बबिता पांडे फ्रंट डेस्क रिप्रेजेंटेटिव (सेंचुरियन एजुकेशन), मोहम्मद सलमान, सेल्स एक्जीक्यूटिव, एमेजॉन नूर अफ्सा और अंकुर अवस्थी (टीडीएस कंस्लटिंग एंड मैनेजमेन्ट फर्म) और अन्य हैं।
इस दो दिवसीय लखनऊ कौशल महोत्सव के अवसर पर उत्तर प्रदेश के पूर्व उप-मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि “माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने उत्तर प्रदेश की दशा और दिशा दोनों ही बदल दी है। आज प्रदेश में करोड़ों रोजगार सृजित हो रहे हैं”। डॉ. दिनेश शर्मा ने भाजपा नेता श्री नीरज सिंह जी को बधाई देते हुए कहा कि उनके अथक प्रयासों से यह कौशल महोत्सव सफलतापूर्वक आगे बढ़ रहा है। इस प्रकार का रोजगार मेला अभूतपूर्व है।
कौशल महोत्सव के समापन समारोह के अवसर पर उत्तर प्रदेश सरकार में श्रम एवं रोजगार मंत्री श्री अनिल राजभर ने कहा कि “केवल दो दिन में लखनऊ के 30000 हजार से ज्यादा युवाओं ने इस महोत्सव से अपने आप को जोड़ा है। उत्तर प्रदेश की सरकार युवाओं को रोजगार देने के लिए संकल्पबद्ध हैं”। उन्होंने यह भी कहा कि “मुख्यमंत्री जी ने संकल्प लिया है कि उत्तर प्रदेश के युवाओं को आत्मनिर्भर बनाना है। हम गांव के युवाओं को भी रोजगार से जोड़ रहे हैं। हर विधानसभा में हम ऐसे रोजगार मेले का आयोजन करेंगे”।
लखनऊ कौशल महोत्सव को आयोजित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले भाजपा नेता श्री नीरज सिंह ने समापन समारोह में धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि, “लखनऊ में कौशल महोत्सव का आयोजन हम सभी के लिए अत्यन्त गौरव का क्षण है। एनएसडीसी और श्रम एवं रोज़गार मंत्रालय उत्तर प्रदेश के सहयोग और माननीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह जी की प्रेरणा से देश की 112 नामचीन कम्पनियाँ अभ्यर्थियों का इन्टरव्यू करने आईं हैं। यह कौशल महोत्सव लखनऊ के इतिहास में स्वर्णिंम अक्षरों से लिखा जाएगा”। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हार्दिक धन्यवाद करते हुए यह भी कहा कि “मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट में उत्तर प्रदेश को 33 लाख 50 हजार करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले जिनसे लगभग 93 लाख से भी अधिक लोगों को रोजगार मिलने जा रहा है। इस अवसर पर उन्होंने मेले में आईं सभी कंपनियों को धन्यवाद दिया”।
कौशल महोत्सव के समापन समारोह पर एनएसडीसी के सीईओ और एनएसडीसी इंटरनेशनल के एमडी वेद मणि तिवारी ने कहा कि “कौशल से ही देश का विकास हो सकता है। लखनऊ कौशल महोत्सव में करीब 20 सेक्टर से 112 कंपनियों ने भाग लिया है। उन्होंने यह भी कहा कि अप्रेंटिसशिप योजना के द्वारा युवा रोजगार के साथ-साथ कौशल भी प्राप्त कर सकते हैं। इस अवसर पर उन्होंने सभी युवाओं को शुभकामनाएँ दीं।
युवाओं में कौशल विकास के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए कई सेक्टर स्किल काउन्सिल्स (एसएससी) और कंपनियों ने एक स्किल एग़्जिबिशन के माध्यम से अपनी अनेक पेशकश की। उम्मीदवारों को अपने करियर को आकार देने के लिए एक फ्री साइकोमेट्रिक टेस्ट और ग्रुप काउन्सिलिंग में भाग लेने का अवसर भी मिला। इस कार्यक्रम में विशेषज्ञों, प्रेरक वक्ताओं और कैरियर काउंसलर्स जिन्होंने उम्मीदवारों को उनकी प्रोफेशनल ग्रोथ को बढ़ावा देने में निर्णय लेने में मदद की। मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने अभ्यर्थियों को ऑफ़र लेटर भी दिया और उन्होंने युवाओं से बातचीत करके उनका हौसला भी बढ़ाया।
मा. आशुतोष टंडन (विधायक, पूर्वी विधान सभा)    , मा. मुकेश शर्मा (सदस्य, विधान परिषद्), मा. राजेश्वर सिंह (विधायक, सरोजिनी नगर), मा. योगेश शुक्ला (विधायक, बख्शी तालाब), मा. संयुक्ता भाटिया (निवर्तमान महापौर, लखनऊ), मा. नीरज बोरा (विधायक, उत्तरी विधान सभा), मा. रामचंद्र प्रधान (सदस्य, विधान परिषद्), मा. पवन सिंह चौहान (सदस्य, विधान परिषद्), मा. आशीष पटेल, विधायक मल्लावा, श्री. सुभाष चंद्र शर्मा प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग, उत्तर प्रदेश, श्री. अनिल कुमार, प्रमुख सचिव, श्री. वेद मणि तिवारी (मुख्य कार्यकारी अधिकारी, राष्ट्रीय कौशल विकास निगम), मा. दिवाकर त्रिपाठी, सांसद प्रतिनिधि, मा. राघवेंद्र शुक्ला सांसद प्रतिनिधि भी शामिल रहे ।
इस कौशल महोत्सव के आयोजन ने महोत्सव में आने वाले अभ्यर्थियों के स्वर्णिम भविष्य की आधारशिला रखी है।

टिप्पणियाँ