अमित शाह के सर्वे में छत्तीसगढ़ में मिल रही थीं 34 सीटें, अब आंकड़ा 48 तक पहुंचा; भाजपा कार्यकर्ताओं में बढ़ा उत्साह

 


 छत्तीसगढ़ में सरकार बनाने के लिए 46 सीटों पर जीत जरूरी है। ऐसे में अब इस आंकड़े से भाजपा उत्साहित है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने भी अपने आंतरिक सर्वे में 55 सीटों पर जीत की संभावना व्यक्त की है लेकिन 17 सीटों पर कड़ा मुकाबला भी बताया है। बूथ स्तर पर किए गए सर्वे में मिले फीडबैक के आधार पर भाजपा का सरकार बनाने का दावा है।केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा बीते जुलाई माह में कराए गए आंतरिक सर्वे में भाजपा को छत्तीसगढ़ की 90 विधानसभा सीटों में से 34 पर जीत मिलती दिख रही थी, जबकि मतदान के बाद यह आंकड़ा 48 तक पहुंच गया है। मतदान बाद पार्टी की समीक्षा बैठकों में यह बात सामने आई है। बूथ स्तर पर किए गए सर्वे में मिले फीडबैक के आधार पर भाजपा का सरकार बनाने का दावा है।

सरकार बनाने के लिए 46 सीटों पर जीत जरूरी

सरकार बनाने के लिए 46 सीटों पर जीत जरूरी है। ऐसे में अब इस आंकड़े से भाजपा उत्साहित है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने भी अपने आंतरिक सर्वे में 55 सीटों पर जीत की संभावना व्यक्त की है, लेकिन 17 सीटों पर कड़ा मुकाबला भी बताया है।

आंकड़े बढ़ने के प्रमुख कारणों में चुनाव के तीन महीने पहले ही 21 सीटों पर प्रत्याशियों का नाम घोषित करना, प्रभावी घोषणा-पत्र और प्रधानमंत्री, केंद्रीय गृह मंत्री समेत सभी विधानसभा सीटों पर 150 से अधिक दूसरे राज्यों के विधायकों की निगरानी को माना जा रहा है।

2018 में भाजपा को 15 सीटें ही मिल पाई थीं

बता दें कि विधानसभा चुनाव 2018 में भाजपा को 15 सीटें ही मिल पाई थीं, जबकि कांग्रेस को 68 सीटों के साथ भारी बहुमत मिला था। बाद में उपचुनाव के बाद यह आंकड़ा 71 पहुंच गया। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष अरुण साव ने कहा कि हमने बूथ स्तर पर समीक्षा की है। अभी आंकड़ों पर नहीं जाते हुए इतना तो दावा है कि भाजपा सरकार बनाने जा रही है।

टिप्पणियाँ