उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से नीदरलैंड के प्रतिनिधि मण्डल ने की मुलाकात

 




निवेश,  व व्यापारिक गतिविधियों को बढ़ावा देने तथा आयात व निर्यात के सम्बन्ध की गयी चर्चा।देश व उत्तर प्रदेश में निवेश व व्यापार की अपार संभावनाएं।

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री  केशव प्रसाद मौर्य से   नीदरलैंड के प्रतिनिधि मण्डल ने आज उनके  कैम्प कार्यालय में  मुलाकात  की।कृषि उत्पादन आयुक्त  मनोज कुमार सिंह की अगुवाई मे  मिलने आये नीदरलैंड की विभिन्न कम्पनियों के प्रतिनिधियों ने  उप मुख्यमंत्री  केशव प्रसाद मौर्य से निवेश,  व व्यापारिक गतिविधियों को बढ़ावा देने तथा आयात व निर्यात के सम्बन्ध  चर्चा की गयी। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि देश व उत्तर प्रदेश में निवेश व व्यापार की अपार संभावनाएं हैं। उन्होने कहा कि यहां निवेश व व्यापार का बहुत अनुकूल माहौल है, इस सम्बन्ध में  उप मुख्यमंत्री ने यहां की विशेषताओं व विशिष्टयों का उल्लेख करते हुए कहा कि नीदरलैंड के साथ व्यापारिक गतिविधियों व निवेश के जरिए ,कृषि व फूड प्रोसेसिंग  क्षेत्र में निर्यात को बढ़ावा देने से यहां के किसानों को सीधा फायदा होगा। कृषि उत्पादों, सब्जियों व फलों आदि के निर्यात से जहां किसानों की आमदनी बढ़ेगी, वहीं रोजगार सृजन भी होगा , इससे कृषि उत्पादन के लिए किसानों को प्रोत्साहन भी मिलेगा, और उनका उत्पादन भी बढ़ेगा।
 उप मुख्यमंत्री  केशव प्रसाद मौर्य ने  यहां के वायुमार्गों, रोड कनेक्टिविटी आदि की चर्चा करते हुए कहा कि यहां पर्यटन के क्षेत्र में इन्वेस्ट करने व व्यापार करने का बहुत अच्छा अवसर है, इस सम्बन्ध में उन्होंने अयोध्या, काशी, मथुरा, चित्रकूट आदि तीर्थ स्थलों व पर्यटन स्थलों व वहां की अवस्थापना सुविधाओं का भी जिक्र किया। उन्होने 2025 में होने वाले महाकुंभ की भी चर्चा की और कहा कि इसमें 50करोड़ श्रद्धालुओं के आने की सम्भावना है। वहां पर भी व्यापारिक दृष्टिकोण से निवेश का बेहतर  मौका है।उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने नीदरलैंड के प्रतिनिधि मंडल को अयोध्या में निर्मित किये जा रहे प्रभू श्री राम के मन्दिर का  स्मृति चिन्ह भेंट किया।
कृषि उत्पादन आयुक्त  मनोज कुमार सिंह ने फूड प्रोसेसिंग व अन्य क्षेत्रों में नीदरलैंड के साथ व्यापारिक रिश्तों  को मजबूत करने के लिए सकारात्मक परिणाम निखर कर सामने आयेंगे, और सार्थक विचार विमर्श चल रहा है। उन्होने इस सम्बन्ध में उत्तर प्रदेश खाद्य प्रसंस्करण उद्योग नीति -2023 की  विशेषताओ का भी उल्लेख किया।
प्रतिनिधि मंडल ने प्रथमत: विभिन्न क्षेत्रों में व्यापार , आयात व निर्यात की इच्छा जाहिर की और कहा कि इस क्षेत्र में वह तेजी से आगे कदम बढ़ा रहे हैं।
और सकारात्मक व सार्थक बातचीत भी हुयी है।


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
संसद का शीतकालीन सत्र नहीं होगा, सरकार ने जनवरी में बजट सत्र बुलाने का सुझाव दिया
चित्र
मोदी खुद शहंशाह, मेरे भाई को शहजादा बोलते हैं: गुजरात में प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री पर किया पलटवार
चित्र