प्रधानमंत्री जी ने सभी गरीबों, वंचितों, शोषितों, नौजवानों, दलितों, महिलाओं तथा अन्नदाता किसानों के लिए विकास योजनाओं का क्रियान्वयन किया : मुख्यमंत्री

 


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने जनपद गोरखपुर में 271 करोड़ रुपये की 140 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इनमें 221.10 करोड़ रुपये लागत की 89 परियोजनाओं का लोकार्पण तथा 49.48 करोड़ रुपये लागत की 51 परियोजनाओं का शिलान्यास सम्मिलित है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने आयुष्मान भारत योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, एक जनपद एक उत्पाद योजना आदि योजनाओं के लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड, प्रतीकात्मक चाभी, डेमो चेक एवं प्रमाण पत्र प्रदान किए।

मुख्यमंत्री जी ने इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिस तरह का यह बड़ा अनुसूचित जाति सम्मेलन सम्पन्न हो रहा है, उसी तरह का जनपद बलिया में नारी शक्ति वंदन अधिनियम का सम्मेलन आज सम्पन्न हुआ है। आज देश में हुए परिवर्तन के लिए प्रत्येक व्यक्ति, जाति, पंथ, मजहब एवं भाषा से ऊपर उठकर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए तत्परता से खड़ा है। आज के दोनों सम्मेलन इसके उदाहरण हैं।

मुख्यमंत्री जी ने बाबा साहब डॉ0 भीमराव आंबेडकर के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए कहा कि 26 नवम्बर को भारत का संविधान अंगीकृत किया गया था। इस तिथि को प्रधानमंत्री जी ने संविधान दिवस के रूप में मनाना शुरू किया है। भारत के प्रत्येक नागरिक का दायित्व बनता है कि वह बाबा साहब के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करे। इसी कृतज्ञता के भाव को व्यक्त करने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से बाबा साहब डॉ0 भीमराव आंबेडकर के कृतित्व एवं नेतृत्व को दुनिया के सामने लाया गया। प्रधानमंत्री जी ने उनके कृतित्व को आने वाले पीढ़ी के समक्ष रखने के लिए पंच तीर्थ को प्रेरणा केन्द्र के रूप में स्थापित किया।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने सभी गरीबों, वंचितों, शोषितों, नौजवानों, दलितों, महिलाओं तथा अन्नदाता किसानों के लिए विकास योजनाओं का क्रियान्वयन किया है। आज इसका परिणाम हम सभी के सामने है। विकास योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव के पारदर्शिता के साथ सभी को प्राप्त हो रहा है। इसका सर्वाधिक लाभ अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों को प्राप्त हुआ है।

उत्तर प्रदेश में 55 लाख गरीबों तथा देश में 04 करोड़ लोगों को आवास योजना का लाभ प्राप्त हुआ है। प्रदेश में 02 करोड़ 75 लाख तथा देश में 10 करोड़ लोगों को शौचालय की सुविधा उपलब्ध करायी गई। प्रदेश के 15 करोड़ तथा देश के 80 करोड़ जरूरतमन्द लोगों को निःशुल्क राशन की सुविधा मिल रही है। उज्ज्वला योजना के तहत प्रदेश में 01 करोड़ 75 लाख तथा पूरे देश में 09 करोड़ लाभार्थियों को निःशुल्क गैस कनेक्शन दिए गए। सरकार ने तय किया है कि दीपावली और होली पर उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को निःशुल्क एक गैस सिलेण्डर उपलब्ध कराया जाएगा।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि यह सभी योजनाएं बाबा साहब डॉ0 भीमराव आंबेडकर के प्रति हमारी कृतज्ञता है। इसमें किसी के साथ कोई भेदभाव नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अन्तर्गत स्ट्रीट वेण्डर्स को लाभ दिया जा रहा है। इसमें ज्यादातर महिलाएं हैं और उसमें भी अनुसूचित जाति से सम्बन्धित महिलाएं शामिल हैं। उत्तर प्रदेश में 14 लाख लोगों को स्वनिधि योजना से जुड़ने का लाभ प्राप्त हुआ है। स्वामित्व योजना में प्रदेश के 75 लाख लोग लाभान्वित हो चुके हैं। सरकार दिसम्बर 2023 तक 01 करोड़ 50 लाख लोगों को इस योजना से जोड़ने के बड़े लक्ष्य के साथ कार्य कर रही है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज 271 करोड़ रुपये लागत की योजनाओं की सौगात गोरखपुर को प्राप्त हो रही है। इस प्रकार की योजनाएं हर जनपद के लिए संचालित की जा रही हैं। इसमें सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, तकनीकी शिक्षा आदि सर्वांगीण विकास से सम्बन्धित कार्य हैं। इनसे प्रत्येक नागरिक के जीवन में परिवर्तन लाया जा सकता है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सर्वविदित है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश इंसेफ्लाइटिस की चपेट में था। इससे सर्वाधिक अनुसूचित जाति एवं जनजाति के बच्चे प्रभावित होते थे। डबल इंजन सरकार द्वारा यह सम्भव हो पाया कि जहां प्रत्येक वर्ष इंसेफ्लाइटिस से 1,200 से 1,500 बच्चों की मौत होती थी, आज वहां, यह पूरी तरह से समाप्त हो चुका है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने भगवान बिरसा मुण्डा की जयन्ती 15 नवम्बर की तिथि को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाने की शुरुआत की है। इस अवसर पर पूरे देश में कार्यक्रम आयोजित होंगे। अनुसूचित जाति से जुड़े व्यक्तियों को आवास उपलब्ध कराने का कार्य किया गया। जहां पर अनूसूचित जाति अथवा जनजाति का व्यक्ति निवास कर रहा है, यदि वह आरक्षित श्रेणी की भूमि नहीं है, तो उस भूमि पर उसे मकान बनाने के लिए पट्टा उपलब्ध कराने की कार्यवाही प्रदेश सरकार द्वारा की जा रही है। आरक्षित श्रेणी की भूमि होने पर अतिरिक्त भूमि देकर वहां पर उनके पुनर्वास की व्यवस्था की जाएगी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार अनुसूचित जनजाति से जुड़े बच्चों के लिए अभ्युदय कोचिंग के माध्यम से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के कार्य को आगे बढ़ाने का कार्य कर रही है। इसे और अच्छे ढंग से आगे बढ़ाने का कार्य किया जाएगा, जिससे अनुसूचित जाति व जनजाति का कोई भी नौजवान अपने को वंचित महसूस न करे। अनुसूचित जाति के नौजवानों के लिए समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित छात्रावासों के सृदृढ़ीकरण एवं सुन्दरीकरण के लिए सरकार ने भरपूर धनराशि उपलब्ध कराने की कार्यवाही शुरू की है। उच्च शिक्षा के अध्ययन के लिए देश या विदेश किसी प्रतिष्ठित संस्थान में अध्ययन के लिए सरकार इन वर्ग के बच्चों के लिए स्कॉलरशिप देने का कार्य करेगी। इसके लिए लखनऊ में ‘भारत रत्न डॉ0 भीमराव आंबेडकर स्मारक एवं सांस्कृतिक केन्द्र’ का कार्य तीव्र गति से आगे बढ़ रहा है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि डबल इंजन की सरकार बिना भेदभाव के योजनाओं का लाभ देने के लिए पूरी तत्परता के साथ तैयार है। यह आयोजन इस बात का प्रतीक है। हम लोग इस आयोजन में रामायण ग्रन्थ देने वाले महर्षि वाल्मिकी, महाभारत ग्रन्थ देने वाले वेदव्यास एवं मध्यकाल में ‘मन चंगा तो कठौती में गंगा’ एवं ‘जाति पाति पूछे नहीं कोई हरि का भजे सो हरि का होई’ देने वालों के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करते हैं। जिन महापुरुषों ने भारत के सामाजिक न्याय की व्यवस्था को विकास के साथ जोड़ने का कार्य किया एवं आजादी के लिए अपमान को सहते हुए भी सब कुछ न्यौछावर कर दिया, उनके प्रति भी कृतज्ञता ज्ञापित करते हैं।
कार्यक्रम को केन्द्रीय आवास एवं शहरी मामलों के राज्यमंत्री श्री कौशल किशोर, प्रदेश के समाज कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री असीम अरुण, ग्राम्य विकास राज्यमंत्री श्रीमती विजय लक्ष्मी गौतम, राज्य सभा सांसद श्री बृजलाल, सांसद श्री रवि किशन शुक्ल, श्री कमलेश पासवान ने भी सम्बोधित किया।
इस अवसर पर केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री श्री पंकज चौधरी, सांसद श्री रमापति राम त्रिपाठी, श्री जगदम्बिका पाल, गोरखपुर के महापौर डॉ0 मंगलेश श्रीवास्तव सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
ईद उल अजहा की पुरखुलूस मुबारकबाद -अजय गुप्ता महासचिव केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन
चित्र